विश्व की प्रमुख जलसंधियां

विश्व की प्रमुख जलसंधियाँ PDF , विश्व की प्रमुख जलसंधियाँ , भारत की जलसंधियां , विश्व की सबसे लंबी जलसंधि , विश्व के प्रमुख जलडमरूमध्य , कुक जलसन्धि , भारत की प्रमुख जल संधि , विश्व की सबसे बड़ी जल संधि ,

विश्व की प्रमुख जलसंधियां

विश्व की प्रमुख जलसंधियाँ का इतिहास :-
पानी के दो समूहों के मध्य बने तंग मार्ग को जलडमरूमध्य कहते है। इसके द्वारा एक जलाशय से दूसरे जलाशय में जाया जाता है। इसकी आकृति और आकार हमेशा डमरू के आकर का होता है इसलिये इसे जलडमरूमध्य कहते है।
विश्व के प्रमुख जलडमरूमध्य, भारत की प्रमुख जलसंधिया,जलसंधि मैप, विश्व की प्रमुख जलसंधियाँ विश्व की प्रमुख जलसंधिया ट्रिक, डेविस जलसंधि, टोरेस जलसंधि, सुंडा जलसंधि
मलक्का – अंडमान सागर एवं दक्षिण चीन सागर इंडोनेशिया मलेशिया
पाक मन्नार एवं बंगाल की खाड़ी भारत-श्रीलंका
ब्लूजोन – दक्षिण चीन एवं फिलीपींस सागर ताइवान फिलीपींस
बेरिंग – बेरिंग सागर एवं छुकछी सागर – अलास्का रूस
डेविस – बेफिन खाड़ी एवं
अटलांटिक महासागर – ग्रीनलैंड
कनाडा
डेनमार्क – उत्तरी अटलांटिक एवं
आर्कटिक महासागर इंग्लैंड फ्रांस
डोवर – इंग्लिश चैनल एवं उत्तरी सागर इंग्लैंड फ्रांस
हडसन – हडसन की खाड़ी
अटलांटिक महासागर – कनाडा
जिब्राल्टर – भूमध्य सागर इन
अटलांटिक महासागर – स्पेन मोरक्को
कोरिया – जापान सागर एवं पूर्वी चीन सागर जापान कोरिया
मैंगैलन प्रशांत एवं दक्षिणी
अटलांटिक महासागर – चिल्ली
फ्लोरिडा – मेक्सिको की खाड़ी
अटलांटिक महासागर – अमेरिका-क्यूबा
बॉस तस्मान सागर एवं दक्षिणी सागर ऑस्ट्रेलिया
कुक दक्षिणी प्रशांत महासागर – न्यूजीलैंड
सुंडा जावा सागर एवं हिंद
महासागर इंडोनेशिया |

यह भी पढ़े :
विश्‍व के प्रमुख खनिज और उनके उत्‍पादक देश

जल संधि क्या है :-
जलसंधि काे जलसंयोगी या जलडमरू या जलडमरूमध्य भी कहते हैं, जलसंधि (Strait) पानी में एसे तंग मार्ग होते हैं जहां से नौकायें एक जलाशय से दूसरे बडे जलाशय में जा सकती है, इनका आकार डमरू के समान होता है इसलिये इसे जलडमरू भी कहते हैैं आईये जानते हैं

विश्व की प्रमुख जलसंधियां :-
1.) मैगेलन जलसंधि – प्रशांत एवं दक्षिण अटलांटिक महासागर
2.) पाक जलसंधि – मन्नार एवं बंगाल की खाड़ी
3.) सुंडा जलसंधि – जावा सागर एवं हिंद महासागर
4.) बाव-एल मंडव जलसंधि – लाल सागर – अरब सागर
5.) फ्लॉरिडा जलसंधि – मैक्सिको की खाड़ी एवं अटलांटिक महासागर
6.) हड़सन जलसंधि – हड़सन की खाड़ी एवं अटलांटिक महासागर
7.) नॉर्थ चैनल – आयरिश सागर एवं अटलांटिक महासागर
8.) बेरिंग जलसंधि – बेरिंग सागर एवं चुक्सी सागर
9.) डेविस जलसंधि – बेफिन खाड़ी एवं अटलांटिक महासागर
10.) डेनमार्क जलसंधि – उ. अटलांटिक एवं आर्कटिक महासागर
11.)डोवर जलसंधि – इंग्लिश चैनल एवं उत्तरी सागर
12.) जिब्राल्टर जलसंधि – भूमध्य सागर एवं अटलांटिक महासागर
13.) हारमुज जलसंधि – फारस की खाड़ी एवं ओमान की खाड़ी
14.) कुक जलसंधि – दक्षिण प्रशांत महासागर
15.) मलक्का जलसंधि – अंडमान सागर एवं दक्षिणी चीन सागर
16.) मोजाम्बिक जलसंधि – हिंद महासागर

विश्व की प्रमुख जलसंधि :-
बॉस जल संधि – तस्‍मान सागर एवं दक्षिण सागर को जोडती है
सुण्‍डा जल संधि – जावा सागर एवं हिन्‍द महासागर को जोडती है
टोकरा जल संधि – पूर्वी चीन सागर एवं प्रशान्‍त महासागर को जोडती है
यूकाटन जल संधि – मैक्‍सको की खाडी एवं कैरीबियन सागर को जोडती है
ओरण्‍टो जल संधि – एड्रियाि‍टिक सागर एवं आयुनियन सागर को जोडती है
र्नोथ चैनल जल संधि – आयरिस सागर एवं अटलाण्टिक महासागर को जोडती है
हारमुज जल संधि – फारस की खाडी एवं ओमान की खाडी को जोडती है
टॉरस जल संधि – अराफुरा सागर एवं एजियन सागर को जोडती है
डार्डेनलीज जल संधि – मारमरा सागर एवं एजियन सागर को जोडती है
बासफोरस जल संधि – काला सागर एवं मारमरा सागर को जोडती है
मकास्‍सार जल संधि – जावा सागर एवं सेलीबीज सागर को जोडती है
बाक्‍अल मण्‍डेव जल संधि – लाल सागर एवं अरब सागर को जोडती है
मलक्‍का जल संधि – अण्‍डमान सागर एवं दक्षिण सागर को जोडती है
पाक जल संधि – मन्‍नार एवं बंगाल की खाडी को जोडती है
लुजाेन जल संधि – दक्षिण चीन एवं फिलीपीन्‍स सागर को जोडती है
बेरिंग जल संधि – बेरिंग सागर एवं चुकसी सागर को जोडती है
डेविस जल संधि -बेफिन खाडी एवं अटलाण्टिक महासागर को जोडती है
डेनमार्क जल संधि – उत्‍तरी अटलाण्टिक एवं आर्कटिक महासागर को जोडती है
डोवर जल संधि – इंग्लिश चैनल एवं उत्‍तरी सागर को जोडती है
हडसन जल संधि – हडसन की खाडी एवं अटलाण्टिक महासागर को जोडती है
जिब्राल्‍टर जल संधि – भूमध्‍य सागर एवं अटलाण्टिक महासागर को जोडती है
कोरिया जल संधि – जापान सागर एवं पूर्वी चीन सागर को जोडती है
मैगेलन जल संधि – प्रशान्‍त महासागर एवं दक्षिणी अटलाण्टिक महासागर को जोडती है |

General Notes

Leave a Comment

error: Content is protected !!