Shaurya Chakra Award, शौर्य चक्र अवॉर्ड

Join Whats App Group 
Join Telegram Channel 

शौर्य चक्र अवॉर्ड, शौर्य चक्र अवॉर्ड क्या है, शौर्य चक्र अवार्ड में क्या दिया जाता है, शौर्य चक्र विजेताओं के नाम, शौर्य चक्र अवार्ड का इतिहास, शौर्य चक्र अवार्ड किस क्षेत्र में दिया जाता है, शौर्य चक्र अवार्ड विजेताओं के लिए वेबसाइट लांच की गई, भारतीय सेना ने ‘शौर्य चक्र’ सम्मान देने का फैसला किया है, शौर्य चक्र अवार्ड में विजेता की सूची, शौर्य चक्र की ताज़ा ख़बर, शौर्य चक्र भारतकोश, ज्ञान का हिन्दी महासागर, शौर्य चक्र 2019, शौर्य चक्र लिस्ट, शौर्य चक्र लिस्ट 2019, शौर्य चक्र विजेता 2019, शौर्य चक्र विजेताओं की सूची, शौर्य चक्र विजेताओं की सूची 2019, भारतीय शौर्य पुरस्कार 2019, शौर्य चक्र 2018, शौर्य चक्र – भारतीय वायु सेना, शौर्य चक्र विजेता विकास जाखड़ की अपने गाँव, राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द ने शौर्य चक्र, शौर्य चक्र अवार्ड से जानकारी,  

Point :- शौर्य चक्र अवॉर्ड

इस आलेख के माध्यम से आप विस्तार से जान पाएंगे

* शौर्य चक्र अवॉर्ड क्या है :-
* शौर्य चक्र अवार्ड में क्या दिया जाता है :-
* शौर्य चक्र विजेताओं के नाम :-
* शौर्य चक्र अवार्ड का इतिहास :-
* शौर्य चक्र अवार्ड किस क्षेत्र में दिया जाता है :-
* शौर्य चक्र अवार्ड विजेताओं के लिए वेबसाइट लांच की गई :-
* भारतीय सेना ने ‘शौर्य चक्र’ सम्मान देने का फैसला किया है :-
* शौर्य चक्र अवार्ड में विजेता की सूची :-

शौर्य चक्र अवॉर्ड क्या है :-
शौर्य चक्र भारत का शांति के समय वीरता का पदक है। यह सम्मान सैनिकों और असैनिकों को असाधारण वीरता या प्रकट शूरता या बलिदान के लिए दिया जाता है। यह मरणोपरान्त भी दिया जा सकता है। वरियता में यह कीर्ति चक्र के बाद आता है।
शौर्य चक्र भारत का शांति के समय वीरता का पदक है। यह सम्मान सैनिकों और असैनिकों को असाधारण वीरता या प्रकट शूरता या बलिदान के लिए दिया जाता है। यह मरणोपरान्त भी दिया जा सकता है। वरियता में यह कीर्ति चक्र के बाद आता है।
शौर्य चक्र शूर्य चक्र पदक है,यह शौर्य, साहसपूर्ण या आत्म-बलिदान के लिए दिया जाता है, यह सेना पदक से पहले है 1967 से पहले, इस पुरस्कार को अशोक चक्र, क्लास III के नाम से जाना जाता था। शौर्य चक्र अवॉर्ड |

शौर्य चक्र अवार्ड में क्या दिया जाता है :-
गोलाकार और कांस्य निर्मित, 1.38 इंच का व्यास है । इस मेडल के अग्र भाग पर केन्द्र में अशोक चक्र की प्रतिकृति उत्कीर्ण है जो कमल माला से घिरी हुई है । इसके पश्च भाग पर हिन्दी और अंग्रेजी दोनों में शौर्य चक्र उत्कीर्ण है, और ये रूपान्तरण कमल के दो फूलों द्वारा अलग-अलग हो रहे हैं । शौर्य चक्र अवॉर्ड |
फीता तीन खड़ी लाइनों द्वारा बराबर भागों में विभाजित हरे रंग का फीता ।शौर्य चक्र अवॉर्ड  |
बार यदि कोई चक्र प्राप्तकर्ता ऐसी वीरता का कार्य पुनः करता है जो उसे चक्र प्राप्त करने के लिए पात्र बनाएगा तो फीते को जोड़े जाने के लिए ऐसे और वीरता के कार्य की पहचान बार द्वारा की जाएगी जिसके द्वारा चक्र संलग्न हो जाता है । प्रदत्त प्रत्येक बार के लिए लघुचित्र में चक्र की एक प्रतिकृति, इसे अकेले पहनते समय फीते के साथ शामिल की

शौर्य चक्र विजेताओं के नाम :-
आशीष कुमार तिवारी
सिपाही कपिल देव
सिपाही अमरजीत
फ्लाइट लेफ्टिनेंट मनीष अरोड़ा
कमांडर दिलीप डोंडे
कैप्टन सुमित कोहली
मेजर मनीष बराल
मेजर दीपक यादव
उदय सिंह
सुरेन्द्र पाल
मेजर मोहिन्द्र सिंह नेगी
फ्लाइट लेफ्टिनेंट मनीष अरोड़ा
सुरेंद्र कुमार
रघुवीर सिंह
परसाराम
सूबेदार सुभाषचन्द्र मूण्ड

शौर्य चक्र अवार्ड का इतिहास :-
शौर्य चक्र भारत का शांति के समय वीरता का पदक है।
यह सम्मान सैनिकों और असैनिकों को असाधारण वीरता या प्रकट शूरता या बलिदान के लिए दिया जाता है।
यह मरणोपरान्त भी दिया जा सकता है। वरीयता में यह कीर्ति चक्र के बाद आता है।
इस पदक की शुरूआत 04 जनवरी 1952 को अद्गाोक चक्र श्रेणी-प्प्प् के रूप में की गई और 27 जनवरी 1967 को इसका नाम बदल कर शौर्य चक्र कर दिया गया। यह पदक शौर्य के कारनामे के लिए प्रदान किया जाता है, इसमें शुगमन का मुकाबला करना शामिल नहीं है।
पदक: यह पदक गोलाकार होता है और कांसे का बना हुआ है, इसका व्यास १.३७५ इंच है। इस पदक के सामने के हिस्से के बीच में अद्गाोक चक्र बना हुआ है जिसके चारों ओर कमल के फूलों की बेल बनी हुई है। इसके पीछे वाले हिस्से पर हिंदी और अंग्रेजी में ‘द्गाौर्य चक्र’ खुदा हुआ है और हिंदी व अंग्रेजी के शब्दों के बीच कमल के दो फूल बने हुए हैं। शौर्य चक्र अवॉर्ड |
रिबन: इसका फीता हरे रंग का होता है जिस पर तीन सीधी रेखाएं बनी होती हैं, ये रेखाएं फीते को चार बराबर हिस्सों में विभाजित करती हैं।
बार: यदि चक्र विजेता बहादुरी के ऐसे ही कारनामे का फिर से प्रदर्द्गान करता है, जिसके कारण वह चक्र प्राप्त करने का पात्र हो जाता है तो बहादुरी के इस कारनामे को सम्मानित करने के लिए चक्र जिस फीते से लटका होता है, उसके साथ एक बार लगा दिया जाता है। यदि केवल फीता पहनना हो तो यह पदक जितनी बार प्रदान किया जाता है, उतनी बार के लिए फीते के साथ इसकी लघु प्रतिकृति लगाई जाती है।

शौर्य चक्र अवार्ड किस क्षेत्र में दिया जाता है :-
सेना, नौसेना और वायु सेना, किसी भी रिजर्व सेना, प्रादेद्गिाक सेना, नागरिक सेना (मिलिद्गिाया) और कानूनी रूप से गठित अन्य सद्गास्त्र सेना के सभी रैंकों के अफसर और पुरूषा व महिला सैनिक।
सद्गास्त्र सेनाओं की नर्सिंग सेवाओं के सदस्य
समाज के प्रत्येक क्षेत्र के सभी लिंगों के सिविलियन नागरिक और पुलिस फोर्स, केन्द्रीय पैरा-मिलिट्री फोर्स और रेलवे सुरक्षा फोर्स के कार्मिक।
पात्रता की शर्ते: यह पदक शौर्य के कारनामे को सम्मानित करने के लिए दिया जाता है, इसमें शुगमन का मुकाबला करना शामिल नहीं है। यह पदक मरणोपरांत भी प्रदान किया जाता है।
आर्थिक अनुदान 01.02.1999 से पदक विजेता को प्रति माह 1500/- रू० की राद्गिा प्रदान की जाती है और यह पदक जितनी बार प्रदान किया जाएगा, हर बार उतनी ही राद्गिा प्रदान की जाएगी, जितनी पहली बार पदक प्राप्त करने पर प्रदान की गई थी।

शौर्य चक्र अवार्ड विजेताओं के लिए वेबसाइट लांच की गई :-
आजादी के बाद से लेकर अब तक के समस्त शौर्य पुरस्कार विजेताओं के लिए वेबसाइट लांच की गई
देश की आजादी के बाद से लेकर अब तक के समस्त शौर्य पुरस्कार विजेताओं के लिए एक समर्पित ऑनलाइन पोर्टल आज लांच किया गया।
इस वेबसाइट में चक्र श्रृंखला के पुरस्कार विजेताओं का विवरण दिया गया है। इनमें परमवीर चक्र, महावीर चक्र, वीर चक्र, अशोक चक्र, कीर्ति चक्र और शौर्य चक्र विजेताओं के नाम इत्यादि शामिल हैं। इस पोर्टल में अब तक के समस्त शौर्य पुरस्कार विजेताओं के नाम, यूनिट, वर्ष, प्रशस्ति पत्र एवं फोटो जैसी आवश्यक सूचनाएं दी गई हैं। रक्षा मंत्रालय इसमें बेहतरी के लिए दिए जाने वाले किसी भी सुझाव अथवा फीडबैक का स्वागत करेगा।

भारतीय सेना ने ‘शौर्य चक्र’ सम्मान देने का फैसला किया है :-
ईद का पाक महीने में कश्मीर के पुलवामा में आतंकियों द्वारा अपहरण कर हत्या किए गए सेना के जवान औरंगजेब को उनकी बहादुरी और बलिदान के लिए भारतीय सेना ने ‘शौर्य’ चक्र से सम्मानित किया है। शौर्य चक्र अवॉर्ड |
रमजान के पाक महीने में कश्मीर के पुलवामा में आतंकियों द्वारा अपहरण कर हत्या किए गए सेना के जवान औरंगजेब को उनकी बहादुरी और बलिदान के लिए भारतीय सेना ने ‘शौर्य चक्र’ सम्मान देने का फैसला किया है। गुरुवार को स्वतंत्रता दिवस के मौके पर 44 राष्ट्रीय के राइफलमैन औरंगजेब को मरणोपरांत ‘शौर्य चक्र’ से सम्मानित किया जाएगा। बता दें कि आतंकियों ने 14 जून को शोपियां जिले से सेना के राइफलमैन औरंगजेब खान को अगवा कर उसकी हत्या कर दी थी।

Rajasthan Geography Hand Writing Notes PDF:- Buy Now
Computer Digital Notes PDF:- Buy Now

शौर्य चक्र अवार्ड में विजेता की सूची :-
1. लेफ्टिनेंट कर्नल अजय सिंह कुशवाहा, जम्मू और कश्मीर राइफल्स / तीसरी बटालियन राष्ट्रीय राइफल्स – सेना।
2. मेजर विभूति शंकर ढौंडियाल, द कोर ऑफ इलेक्ट्रॉनिक एंड मैकेनिकल इंजीनियर्स / 55 वीं बटालियन द राष्ट्रीय राइफल्स (मरणोपरांत) – सेना।
3. कैप्टन महेशकुमार भूरे, कोर ऑफ़ इंजीनियर्स / 34 वीं बटालियन राष्ट्रीय राइफल्स सेना
4. लांस नायक संदीप सिंह, 4वीं बटालियन पैराशूट रेजिमेंट (विशेष बल) (मरणोपरांत) – सेना
5. सिपाही बृजेश कुमार, पंजाब रेजिमेंट / 22 वीं बटालियन द राष्ट्रीय राइफल्स (मरणोपरांत) – सेना।
6. सिपाही हरि सिंह, द ग्रेनेडियर्स / 55 वीं बटालियन द राष्ट्रीय राइफल्स (मरणोपरांत) – सेना।
7. राइफलमैन अजवीर सिंह चौहान, 6वीं बटालियन गढ़वाल राइफल्स – सेना।
8. राइफलमैन शिवा कुमार, जम्मू और कश्मीर लाइट इन्फैंट्री / 31 वीं बटालियन राष्ट्रीय राइफल्स (मरणोपरांत) – सेना।
9. अमित सिंह राणा – नौसेना।
10. श्री सबल ज्ञानेश्वर श्रीराम, कांस्टेबल – सीआरपीएफ।
11. श्री ज़ाकेर हुसैन, कांस्टेबल – सीआरपीएफ।
12. श्री आशिक हुसैन मलिक, विशेष पुलिस अधिकारी (मरणोपरांत) – गृह मंत्रालय।
13. श्री सुभाष चंदर, हेड कांस्टेबल – जम्मू और कश्मीर गृह मंत्रालय।
14. श्री इमरान हुसैन टाक, सब इंस्पेक्टर (मरणोपरांत) – गृह मंत्रालय।
बार टू सेना मेडल (वीरता)
1. कर्नल आशुतोष शर्मा, द गार्ड्स / 21 वीं बटालियन द सेन्ट्रल ब्रिगेड की राष्ट्रीय राइफल्स – सेना।
2. मेजर के नवीन रेड्डी, सेना पदक कोर ऑफ इंजीनियर्स / 42 वीं बटालियन राष्ट्रीय राइफल्स – सेना।
3. मेजर सागर प्रकाश परदेशी, सेना पदक द आर्मर्ड कोर / 22 वीं बटालियन द राष्ट्रीय राइफल्स – सेना।
4. मेजर तसौ प्राओ, सेना मेडल जम्मू और कश्मीर राइफल्स / तीसरी बटालियन राष्ट्रीय राइफल्स – सेना।
5. मेजर एम डी सहवाज आलम, सेना मेडल असम रेजिमेंट / 42 वीं बटालियन राष्ट्रीय राइफल्स आर्मी।
6. मेजर कौस्तुभ प्रकाशकुमार राणे, सेना पदक गढ़वाल राइफल्स / 36 वीं बटालियन राष्ट्रीय राइफल्स (मरणोपरांत) – सेना।
7. मेजर मनीष कुमार सिंह, सेना पदक इंजीनियर रेजिमेंट / 53 वीं बटालियन राष्ट्रीय राइफल्स – सेना।
8. सिपाही सुनील कुमार, सेना पदक 20 वीं बटालियन द जाट रेजिमेंट – सेना।
सेना पदक (वीरता)
8. लेफ्टिनेंट कर्नल राजेश चौधरी तृतीय बटालियन पैराशूट रेजिमेंट (विशेष बल) – सेना।
9. लेफ्टिनेंट कर्नल भगवान सिंह बिष्ट पैराशूट रेजिमेंट / 31 वीं बटालियन राष्ट्रीय राइफल्स – सेना।
10. लेफ्टिनेंट कर्नल पुनाबाची मोहंती 9 वीं बटालियन पैराशूट रेजिमेंट (विशेष बल) – सेना।
11. लेफ्टिनेंट कर्नल मोहम्मद रज़ा इज़राइल 9 वीं बटालियन पैराशूट रेजिमेंट (विशेष बल) – सेना।
12. लेफ्टिनेंट कर्नल अमरेन्द्र प्रसाद द्विवेदी असम रेजिमेंट / 42 वीं बटालियन राष्ट्रीय राइफल्स – सेना।
13. लेफ्टिनेंट थाइबा साइमन फर्स्ट बटालियन द पैराशूट रेजिमेंट (विशेष बल) – सेना।
14. मेजर संदीप वाशिष्ठ ने पैराशूट रेजिमेंट / 31 वीं बटालियन द रश्त्रीय राइफल्स – सेना।
15. मेजर जसविंदर सिंह, पंजाब रेजिमेंट / 53 वीं बटालियन द राष्ट्रीय राइफल्स – सेना।
16. मेजर विकास कटोच, जम्मू और कश्मीर राइफल्स / 52 वीं बटालियन राष्ट्रीय राइफल्स – सेना।
17. मेजर रेविन्दर भाखर, 9 वीं बटालियन द पैराशूट रेजिमेंट (विशेष बल) – सेना।
18. मेजर उदयन ठाकुर, सेना सेवा कोर / 50 वीं बटालियन राष्ट्रीय राइफल्स – सेना।
19. मेजर विजेश कुमार, द महार रेजिमेंट / पहली बटालियन द राष्ट्रीय राइफल्स – सेना।
20. मेजर सचिन कुमार अग्रवाल, महार रेजिमेंट / 30 वीं बटालियन राष्ट्रीय राइफल्स – सेना।
21. मेजर चित्रेश बिष्ट, द कोर ऑफ इंजीनियर्स / 55 वीं इंजीनियर रेजिमेंट (मरणोपरांत) – सेना।
22. मेजर ख शेम, द जाट रेजिमेंट / 5 वीं बटालियन द राष्ट्रीय राइफल्स – सेना।
23. मेजर आशीष कुमार, 4 वीं बटालियन पैराशूट रेजिमेंट (विशेष बल) – सेना।
24. मेजर हैप्पी चरक, 9 वीं बटालियन द राजपुताना राइफल्स – सेना।
25. मेजर योगेश पांडे, द कॉर्प्स ऑफ इंजीनियर्स / 9 वीं बटालियन द राष्ट्रीय राइफल्स – सेना।
26. मेजर लक्ष्मण सिंह, द मैकेनाइज्ड इन्फैंट्री / 9 वीं बटालियन द राष्ट्रीय राइफल्स – सेना।
27. मेजर पथरकर आनंद शरद, द गार्ड्स ऑफ ब्रिगेड / 50 वीं बटालियन द राष्ट्रीय राइफल्स – सेना।
28. मेजर जावलकर वैभव प्रमोद, द आर्मर्ड कॉर्प्स / 55 वीं बटालियन द राष्ट्रीय राइफल्स।
29. मेजर सोहम भट्टाचार्जी, द कॉर्प्स ऑफ इंजीनियर्स / पहली बटालियन द राष्ट्रीय राइफल्स – सेना।
30. मेजर शक्ति सिंह, 23 वीं बटालियन द पैराशूट रेजिमेंट – सेना।
31. मेजर इंदर प्रीत सिंह, द आर्मर्ड कॉर्प्स / 22 वीं बटालियन द राष्ट्रीय राइफल्स – सेना।
32. कप्तान शिव कुमार शर्मा, 9 वीं बटालियन द पैराशूट रेजिमेंट (विशेष बल) – सेना।
33. कप्तान कुणाल कुमार, 21 वीं बटालियन पैराशूट रेजिमेंट (विशेष बल) – सेना।
34. कप्तान प्रतीक रंजनगांवकर, असम रेजिमेंट / 42 वीं बटालियन द राष्ट्रीय राइफल्स – सेना।
35. कप्तान सौरभ पाटनी, द कॉर्प्स ऑफ़ सिग्नल्स / 55 वीं बटालियन द राष्ट्रीय राइफल्स – सेना।
36. कैप्टन आशीष गेदियन पौडेल, तीसरी बटालियन पैराशूट रेजिमेंट (विशेष बल) – सेना।
37. सूबेदार त्रिलोक सिंह, तीसरी बटालियन द जम्मू एंड कश्मीर राइफल्स – सेना।
39.नायब सूबेदार तारा चंद, 16 वीं बटालियन द असम राइफल्स – आर्मी।
40. नायब सूबेदार रविंदर सिंह, पहली बटालियन द पैराशूट रेजिमेंट (विशेष बल) – सेना।
41. नायब सूबेदार जय देव 9 वीं बटालियन पैराशूट रेजिमेंट (विशेष बल) – सेना।
42. बैटरी हवलदार मेजर हंस राज, द कॉर्प्स ऑफ आर्टिलरी / 66 वीं मध्यम रेजिमेंट – सेना।
43. हवलदार संदीप मलिक, 12 वीं बटालियन द पैराशूट रेजिमेंट (विशेष बल) – सेना।
44. हवलदार बलिन्दर सिंह, 4 वीं बटालियन द पैराशूट रेजिमेंट (विशेष बल) – सेना।
45. हवलदार बलजीत, द मेकेनाइज्ड इन्फैंट्री / 50 वीं बटालियन द राष्ट्रीय राइफल्स – सेना।
46. हवलदार भूपेंद्र सिंह, 23 वीं बटालियन द पैराशूट रेजिमेंट – सेना।
47. हवलदार अजय कुमार राणा, पंजाब रेजिमेंट / 53 वीं बटालियन राष्ट्रीय राइफल्स – सेना।
48. हवलदार श्यो राम, ग्रेनेडियर्स / 55 वीं बटालियन द राष्ट्रीय राइफल्स (मरणोपरांत) – सेना।
49. हवलदार राकेश कुमार, द जाट रेजिमेंट / 34 वीं बटालियन द राष्ट्रीय राइफल्स – सेना।
50. हवलदार जावीद अहमद चोपन, 9 वीं बटालियन द पैराशूट रेजिमेंट (विशेष बल) – सेना।
51. लांस हवलदार विजय कुमार, 23 वीं बटालियन पैराशूट रेजिमेंट (मरणोपरांत) – सेना।
52. लांस हवलदार संदीप कुमार, 23 वीं बटालियन पैराशूट रेजिमेंट – सेना।
53. नायक अश्वनी कुमार, 9 वीं बटालियन द पैराशूट रेजिमेंट (विशेष बल) – सेना।
54. नाइक जानकर सिंह, जम्मू और कश्मीर राइफल्स / तीसरी बटालियन राष्ट्रीय राइफल्स – सेना।
55. नाइक सनी ठाकुर, द मैकेनाइज्ड इन्फैंट्री / 42 वीं बटालियन मैकेनाइज्ड – आर्मी।
56. नाइक रमेश कुमार, 20 वीं बटालियन द जाट रेजिमेंट – सेना।
57. नायक नरेंद्र कुमार, द जाट रेजिमेंट / 5 वीं बटालियन द राष्ट्रीय राइफल्स – सेना।
58. नाइक संतोष सिंह, 9 वीं बटालियन द पैराशूट रेजिमेंट (विशेष बल) – सेना।
59. लांस नायक सोमबीर, 23 वीं बटालियन पैराशूट रेजिमेंट – सेना।
60. लांस नायक जगतार सिंह, पंजाब रेजिमेंट / 22 वीं बटालियन द राष्ट्रीय राइफल्स – सेना।
61. लांस नायक सुरेंद्र सिंह, 4 वीं बटालियन पैराशूट रेजिमेंट (विशेष बल) – सेना।
62. लांस नायक अनुज कुमार, महार रेजिमेंट / पहली बटालियन राष्ट्रीय राइफल्स – सेना।
63. सिपाही कुलविंदर सिंह, द मैकेनाइज्ड इन्फैंट्री / 42 वीं बटालियन द राष्ट्रीय राइफल्स – सेना।
64. सिपाही जगमोहन सिंह, द मैकेनाइज्ड इन्फैंट्री / 42 वीं बटालियन द राष्ट्रीय राइफल्स – सेना।
65. सिपाही समरेश डे, द मैकेनाइज्ड इन्फैंट्री / 50 वीं बटालियन द राष्ट्रीय राइफल्स – सेना।
66. सिपाही सुहैल सिंह सैनी, द मैकेनाइज्ड इन्फेंट्री / 42 वीं बटालियन द राष्ट्रीय राइफल्स – सेना।
67. सिपाही एस विगी भास्कर, 12 वीं बटालियन द मद्रास रेजिमेंट – सेना।
68. ग्रेनेडियर तौसेफ यूसुफ, ग्रेनेडियर्स / 55 वीं बटालियन द राष्ट्रीय राइफल्स – सेना।
69. ग्रेनेडियर अजय कुमार, द ग्रेनाडियर्स / 55 वीं बटालियन द राष्ट्रीय राइफल्स (मरणोपरांत) – सेना।
70. सिपाही पेंटा नितिन पॉल, 24 वीं बटालियन द मराठा लाइट इन्फैंट्री – सेना।
71. सिपाही सुनील, द जाट रेजिमेंट / 34 वीं बटालियन द राष्ट्रीय राइफल्स – सेना।
72. सिपाही रिंकू, द जाट रेजिमेंट / 34 वीं बटालियन द राष्ट्रीय राइफल्स – सेना।
73. सिपाही सुशील सिंह कालाकोटी, द कुमाऊं रेजिमेंट / 50 वीं बटालियन द राष्ट्रीय राइफल्स।
74. सिपाही राजवीर सिंह यादव, द कुमाऊं रेजिमेंट / 50 वीं बटालियन द राष्ट्रीय राइफल्स – सेना।
75. सिपाही पंकज बोरो, असम रेजिमेंट / 42 वीं बटालियन राष्ट्रीय राइफल्स – सेना।
76. सिपाही राहुल दास, असम रेजिमेंट / 42 वीं बटालियन द राष्ट्रीय राइफल्स – सेना।
77. सिपाही गुलशन सिंह, सिख लाइट इन्फैंट्री / 19 वीं बटालियन राष्ट्रीय राइफल्स – सेना।
78. सिपाही हैप्पी सिंह, सिख लाइट इन्फैंट्री / 19 वीं बटालियन राष्ट्रीय राइफल्स (मरणोपरांत) – सेना।
79. सिपाही योगेंद्र कुमार, द महार रेजिमेंट / पहली बटालियन द राष्ट्रीय राइफल्स – सेना।
80. राइफलमैन रमेश सिंह धामी, तीसरी बटालियन द जम्मू एंड कश्मीर राइफल्स – सेना।
81. राइफलमैन रूपेन प्रधान, तीसरी बटालियन द जम्मू एंड कश्मीर राइफल्स – सेना।
82. राइफलमैन सुरिंदर कुमार, जम्मू और कश्मीर राइफल्स / तीसरी बटालियन राष्ट्रीय राइफल्स – सेना।
83. राइफलमैन प्रदीप कुमार, राजपुताना राइफल्स / 9 वीं बटालियन द राष्ट्रीय राइफल्स – सेना।
84. राइफलमैन मनदीप सिंह रावत, गढ़वाल राइफल्स / 36 वीं बटालियन राष्ट्रीय राइफल्स (मरणोपरांत) – सेना।
85. राइफलमैन प्रीतम सिंह, 6 वीं बटालियन गढ़वाल राइफल्स – सेना।
86. राइफलमैन रईस आह लोन, जम्मू और कश्मीर लाइट इन्फैंट्री / 50 वीं बटालियन द राष्ट्रीय राइफल्स – सेना।
87. राइफलमैन निंगथौजम सुभचंद्र सिंह, 31 वीं बटालियन असम राइफल्स (मरणोपरांत) – सेना।
88. ग्रेनेडियर करम चंद, 5 वीं बटालियन ग्रेनेडियर्स – सेना।
89. पैराट्रूपर विक्रम सिंह मेहता, तीसरी बटालियन पैराशूट रेजिमेंट (विशेष बल) – सेना।
90. पैराट्रूपर राजेंद्र सिंह, 9 वीं बटालियन द पैराशूट रेजिमेंट (विशेष बल) – सेना।
91. पैराट्रूपर नसीब कुमार, 10 वीं बटालियन पैराशूट रेजिमेंट (विशेष बल) – सेना।
92. पैराट्रूपर गोपाल सिंह, 10 वीं बटालियन द पैराशूट रेजिमेंट (विशेष बल) – सेना।
93. पैराट्रूपर तरुंग सीतांग, 9 वीं बटालियन द पैराशूट रेजिमेंट (विशेष बल) – सेना।
94. सोवर किशन सिंह, द आर्मर्ड कॉर्प्स / 55 वीं बटालियन द राष्ट्रीय राइफल्स (मरणोपरांत) – सेना।
95. सिग्नलमैन मानवेन्द्र सिंह, द कॉर्प्स ऑफ़ सिग्नल्स / 3rd बटालियन द राष्ट्रीय राइफल्स – सेना।
96. सैपर पी मधु, द कोर ऑफ इंजीनियर्स / पहली बटालियन द राष्ट्रीय राइफल्स – सेना।
97. सैपर पी बाबू, द महार रेजिमेंट / पहली बटालियन द राष्ट्रीय राइफल्स – सेना।
98. सैपर राहुल चव्हाण, इंजीनियर रेजिमेंट / प्रथम बटालियन द राष्ट्रीय राइफल्स – सेना।

 PDF 
 सभी प्रकार की अवार्ड लिस्ट देखे 

Rajasthan Geography Question Bank:- Buy Now   
  Rajasthan History Question Bank:- Buy Now    
  Rajasthan Arts And Culture Questions Bank:- Buy Now   
  Indian Geography Question Bank:- Buy Now   
  Indian History Question Bank:- Buy Now   
  General Science Questions Bank:- Buy Now
Join WhatsApp Group
Follow On Instagram 
Subscribe YouTube Channel
Subscribe Telegram Channel

Treading

Load More...