सतत एवं व्यापक मूल्यांकन से संबधित MCQ

सतत और व्यापक मूल्यांकन क्यों आवश्यक है , सतत एवं व्यापक मूल्यांकन कैसे किया जाता है, मूल्यांकन और आकलन में क्या अंतर है, सामूहिक मूल्यांकन क्या है, सतत एवं व्यापक मूल्यांकन के महत्व , सतत एवं व्यापक मूल्यांकन की विशेषताएं , सतत एवं व्यापक मूल्यांकन का निष्कर्ष , सतत एवं व्यापक मूल्यांकन प्रपत्र , सतत एवं व्यापक मूल्यांकन में शिक्षक की भूमिका , सतत एवं व्यापक मूल्यांकन in HINDI , सतत एवं व्यापक आकलन अभिलेख , सतत और व्यापक आकलन आवश्यक है , सतत एवं व्यापक मूल्यांकन से संबधित MCQ ,

सतत एवं व्यापक मूल्यांकन से संबधित MCQ

1.) भाषा के आकलन की प्रक्रिया
(a) पाठ के अन्त में दिए अभ्यासों के माध्यम से होती है
(b) सीखने-सिखाने के दौरान भी चलती है
(c) केवल बच्चों का निष्पादन जानने के लिए होती है
(d) केवल शिक्षक का निष्पादन जानने के लिए होती है
Answer :- B

2.) भाषा के सतत और व्यापक मूल्यांकन का उद्देश्य है
(a) बच्चों के सीखने की प्रक्रिया को समझकर उपयुक्त शिक्षण अध्गिम प्रक्रिया अपनाना
(b) अगली कक्षा में प्रोन्नत करना
(c) बच्चों की त्रुटियों की पहचान करना
(d) (a) और (c)
Answer :- D

3.) सतत और व्यापक मूल्यांकन की शुरुआत में मूल्यांकन व्यवस्था को
(a) बच्चे के सम्पूर्ण व्यक्तित्व को ज्यादा प्रदर्शित करने वाला बनाया है
(b) बहुत अधिक विवरण को शमिल करने हूए जटिल बनाया है
(c) अस्पष्ट बनाया है क्योंकि विद्यार्थी के निश्चित रैंक को जाना नहीं जा सकता
(d) केवल शैक्षणिक क्षेत्रों मे निष्पादन का विश्लेषण करने के लिए ज्यादा व्यापक बनाया है
Answer :- A

4.) भाषा में सतत और व्यापक मूल्यांकन का उद्देश्य है
(a) यह जानना कि बच्चों ने कितना सीखा
(b) बच्चों को उत्तीर्ण-अनुत्तीर्ण श्रेणी में रखना
(c) बच्चों द्वारा भाषा सीखाने की प्रक्रिया को जानना, समझना
(d) केवल बच्चों की कमियाँ जानना
Answer :- A

5.) सतत और व्यापक मूल्यांकन मुख्य रूप से पर बल देता।
(a) बच्चे के सुखर के लिए लगातार परीक्षण करने
(b) बच्चे के व्यवहार तथा सिखने की प्रक्रिया का सतत अवलोकन करने
(c) हृदय और हाथ की शिक्षा पर
(d) कमजोर अयोग्य वि़द्यार्थियों को उच्च स्तर (अगली कक्षा) पर प्रोन्नत करने
Answer :- B

यह भी पढ़े :
सृजनात्मक से संबधित MCQ

6.) हिन्दी भाषा के सतत और व्यापक मूल्यांकन के सन्दर्भ में कौन-सा कथन उचित नहीं है
(a) यह बच्चे के सन्सदर्भ में ही मूल्यांकन करता है
(b) यह बच्चों को उत्तीर्ण-अनुत्तीर्ण श्रेणियों में विभाजित करने में विश्वास रखता है
(c) सतत और व्यापक मूल्यांकन बच्चों की सीखने की क्षमता और तरीके के बारे में जानकारी देता है
(d) यह बताता है कि बच्चों को किस तरह की सहायता की जरूरत है
Answer :- B

7.) आकलन
(a) केवल यह बताता है कि बच्चे ने क्या नहीं सीखा
(b) भाषा सीखने-सिखाने की प्रक्रिया का अभिन्न अंग है
(c) पाठ-समाप्ति पर ही किया जाता है
(d) मूलतः शिक्षक-केन्द्रित ही होता है
Answer :- B

8.) मूल्यांकन का प्रयोजन है
(a) बच्चों को डर के दबाव में अध्ययन के लिए प्रेरित करना
(b) बच्चों को धीमी गति से सीखने वाले, होशियार, समस्यात्मक छात्र आदि वर्गों में विभाजित करना
(c) बालक के विकास के हर पक्ष का मूल्यांकन करना
(d) उन बच्चों को पहचानना जिन्हें उपचारात्मक शिक्षण की आवश्यकता है
Answer :- C

9.) भाषा-आकलन में कौन-सा तत्त्व सर्वाधिक महत्त्वपूर्ण है
(a) सुलेख
(b) भाषिक संरचनओं पर आधरित प्रश्न
(c) विविध अर्थ वाले प्रश्न पूछना
(d) उपरोक्त सभी
Answer :- D

10.) सतत मूल्यांकन का एक निहितार्थ है
(a) बच्चों के परीक्षा-सम्बन्धी भय को समाप्त करना
(b) पतिदिन परीक्षाएँ लेना
(c) हर महीने परीक्षाएँ लेना
(d) बच्चों के भाषा-प्रयोग का निरन्तर अवलोकन करना

Answer :- A

Question Answer For Bstc Exam 2021

Leave a Comment

error: Content is protected !!