राष्ट्रीय बाल श्री पुरस्कार

रचनात्मक लेखन pdf , balshree award , सृजनात्मक लेखन pdf , राष्ट्रीय बाल भवन , bal shree award , rachnatmak lekhan pdf , रचनात्मक लेखन क्या है , राष्ट्रीय बाल श्री पुरस्कार क्या है , राष्ट्रीय बाल श्री पुरस्कार इन क्षेत्रों में दिया जाता है , राष्‍ट्रीय वीरता पुरस्कार में क्या-क्या मिलता है , राष्ट्रीय बाल श्री पुरस्कार की राशि कितनी होती है , राष्ट्रीय बाल श्री पुरस्कार कौन-कौन सी सुविधाएं , अब तक राष्ट्रीय बाल श्री पुरस्कार दिए गए व्यक्तियों कि सूची ,

राष्ट्रीय बाल श्री पुरस्कार क्या है :-
राष्ट्रीय बाल श्री सम्मान 09 से 16 वर्ष के आयु वर्ग के रचनात्मक बच्चों के लिए भारत सरकार द्वारा प्रदत्त सम्मान है। मानव संसाधन विकास मंत्रालय (भारत सरकार ) के स्वायत्त निकाय द्वारा राष्ट्रीय बाल भवन द्वारा दिए जाने वाले सम्मान में एक पट्टिका, एक प्रमाण पत्र शैक्षिक संसाधन और नकद पुरस्कार सम्मिलित हैं। राष्ट्रीय बाल श्री सम्मान प्रायः नई दिल्ली स्थित राष्ट्रपति भवन में भारत के राष्ट्रपति द्वारा दिया जाता है। बालश्री सम्मान भारत के ३ राष्ट्रपति पुरस्कारों में से एक है, बाल श्री देश का सर्वोच्च बाल पुरस्कार हैं।

राष्ट्रीय बाल श्री पुरस्कार इन क्षेत्रों में दिया जाता है :-
राष्टृीय बाल भवन मानव संसाधन एवं विकास मंत्रालय भारत सरकार की राष्ट्रीय बालश्री योजना के लिए आवेदन आमंत्रित किए गए हैं। बच्चों की सृजनात्मक क्षमता को पहचान कर उन्हें आगे बढ़ाने के लिए प्रेरित किया जाना है। बाल श्री सम्मान में एक फलक, प्रशस्ति-पत्र, 15 हजार रूपए और साहित्य सेट दिया जाएगा। इसके लिए पात्रता 10 से 16 वर्ष आयु की है। इसमें सृजनात्मक प्रदर्शन तबला, वाद्ययंत्र संगीत, कंठ संगीत, नृत्य, थियेटर और कठपुतली शामिल है। सृजनात्मक कलाओं में डिजानिंग, ग्राफिक्स, डिजिटल आर्ट, चित्रकला, मूर्तिकला और शिल्पकला को शामिल किया गया है। सृजनात्मक लेखन में कविता, कहानी, गद्य, संवाद और नाटक को लिया गया है। जिलास्तर. राज्यस्तर एवं राष्ट्रीयस्तर पर इसमें कलाकारों का चयन किया जाएगा। 65 सामान्य बच्चों के लिए एवं 16 दिव्यांग बच्चों के लिए पुरस्कार है।

राष्‍ट्रीय वीरता पुरस्कार में क्या-क्या मिलता है :-
बाल श्री सम्मान ९-१६ वर्ष तक की आयु वर्ग के बच्चों के सृजनशील बच्चों को अभिव्यक्ति के निम्नलिखित विषय-क्षेत्रों में प्रदान किया जाता है |
प्रदर्शनकारी कला – इस श्रेणी में गायन, वादन, नृत्य, अभिनय, को शामिल किया गया है
सृजनात्मक कला – इस श्रेणी में मूर्तिकला, चित्रकला, क्राफ्ट-कार्य को शामिल किया गया है
सृजनात्मक वैज्ञानिक नवीकरण – इस श्रेणी में वैज्ञानिक परियोजना, माडल, विज्ञान की समस्या आदि को शामिल किया गया है |
सृजनात्मक लेखन :- इस श्रेणी में गद्य, पद्य, नाट्य-संवाद, आदि को शामिल किया गया है |

राष्ट्रीय बाल श्री पुरस्कार की राशि कितनी होती है :-
क्रिएटिव व टैलेंटेड बच्चों को राज्य, राष्ट्रीय व अंतरर्राष्ट्रीय कॉम्पटीशन में शामिल होने का मिलेगा मौका |
झारखंड बाल भवन की ओर से पिछले दिनों मेंबरशिप ड्राइव शुरू किया गया
निवारणपुर स्थित बेतार केंद्र में इनरॉलमेंट की चल रही प्रक्रिया |
बीपीएल बच्चों का इनरॉलमेंट फ्री, अन्य को 200 रुपए के साथ देना होगा बर्थ सर्टीफिकेट
झारखंड स्टेट बाल भवन में ख्0क्भ्-क्म् सेशन के लिए बच्चों का इनरॉलमेंट शुरू हो चुका है. क्रिएटिव व टैलेंटेड बच्चों को इस इनरॉलमेंट के बाद खुद को राज्य, राष्ट्रीय व अंतरर्राष्ट्रीय स्तर पर होने वाले कॉम्पटीशन में शामिल होने का मौका मिलेगा. यह राष्ट्रीय बाल भवन का कार्यक्रम है, जो मिनिस्ट्री ऑफ एचआरडी की ऑटोनॉमस बॉडी है. इसके तहत झारखंड बाल भवन की ओर से पिछले दिनों मेंबरशिप ड्राइव शुरू किया गया है. निवारणपुर स्थित बेतार केंद्र में इनरॉलमेंट की प्रकिया पूरी की जा रही है |

राष्ट्रीय बाल श्री पुरस्कार कौन-कौन सी सुविधाएं :-
युवा लेखक सुधाकर रवि को उत्कृष्ट सृजनात्मक लेखन हेतू राष्ट्रीय बालश्री सम्मान से सम्मानित किया गया है। इन्हें सम्मानित किये जाने से जिले में खुशी की लहर है। मालूम हो कि पिछले दिनों दिल्ली में आयोजित समारोह में केन्द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति रानी द्वारा उन्हें दस हजार रुपये, अंग वस्त्र, प्रमाण पत्र और मेमोंटो देकर सम्मानित किया था। बताते चले कि सुधाकर रवि प्रगतिशील लेखक संघ के अध्यक्ष सुधाकर राजेन्द्र के पुत्र हैं। इनकी रचनाएं कई साहित्यिक पत्र पत्रिकाओं मे ंछपती रही है। सुधाकर रवि का कहना है कि यह सम्मान प्राप्त करने के लिए मैंने सृजनात्मक लेखन किया। मेरी अभिरुची कविता, कहानी और निबंध लेखन में है। मैं अभी इंटर का छात्र हूं। पढ़ लिखकर कुशल अध्यापक और अच्छा लेखक बनना चाहता हूं। मेरी सफलता का श्रेय पिता सुधाकर राजेन्द्र, माता सविता देवी, प्रगतिशील लेखक संघ जहानाबाद और किलकारी संस्था पटना को जाता है।

अब तक राष्ट्रीय बाल श्री पुरस्कार दिए गए व्यक्तियों कि सूची :-
Rajvi Nilesh Banker – रचनात्मक प्रदर्शन
Haritha Raj MP – रचनात्मक प्रदर्शन
Anagha C.B. – रचनात्मक प्रदर्शन
Bhairavi Venkatesan – रचनात्मक प्रदर्शन
Sampraja Prashant Mainekar – रचनात्मक प्रदर्शन
Shubhangi Goel – रचनात्मक प्रदर्शन
Gayathri Sandeep – रचनात्मक प्रदर्शन
Srinivasan M – रचनात्मक प्रदर्शन
Saumya Hariharan – रचनात्मक प्रदर्शन
Ninad Adhikari – रचनात्मक प्रदर्शन
Uddeshya Singh – रचनात्मक प्रदर्शन
Priyanka Yurembam – रचनात्मक प्रदर्शन
Krishna Kumar – रचनात्मक प्रदर्शन
Manav Rao – रचनात्मक वैज्ञानिक नवाचार
Preetdeepan Prasant Pradhan – रचनात्मक वैज्ञानिक नवाचार
Ananya Agarawal – रचनात्मक वैज्ञानिक नवाचार
Aravind A.K. – रचनात्मक वैज्ञानिक नवाचार
Smriti Tiwari – रचनात्मक वैज्ञानिक नवाचार
Devashish Tupkary – रचनात्मक वैज्ञानिक नवाचार
Priyansh Faldu – रचनात्मक वैज्ञानिक नवाचार
Abhinav Azad – रचनात्मक वैज्ञानिक नवाचार
Tanay Talaiya – रचनात्मक वैज्ञानिक नवाचार
Bivas Nag – रचनात्मक वैज्ञानिक नवाचार
Pratyay Shetye – रचनात्मक लेखन
Najna Nazeem – रचनात्मक लेखन
V. Darshana – रचनात्मक लेखन
Anchitshivam Sharma – रचनात्मक लेखन
Aditya Shankar Wagh – रचनात्मक लेखन
S. Akshaya – रचनात्मक लेखन
Eeshan Surendra Shukla – रचनात्मक लेखन
Aharika Baskar – रचनात्मक कला
Kritika Grover – रचनात्मक लेखन
Apoorva Zolgikar – रचनात्मक लेखन

Award List Questions Answer

Leave a Comment

error: Content is protected !!