पद्म पुरस्कार क्या है
By
Join Our WhatsApp Group
Join Our Telegrem Channel

पद्म पुरस्कार राशि , पद्म विभूषण पुरस्कार राशि , पद्म पुरस्कार की शुरुआत कब हुई , पद्म विभूषण पुरस्कार 2019 , पद्म पुरस्कार समिती , पद्म पुरस्कार 2020 , पद्म विभूषण पुरस्कार 2021 , पद्मश्री पुरस्कार के फायदे ,

पद्म पुरस्कार क्या है

पद्म पुरस्कार क्या है :-
पद्म पुरस्कार भारत के सर्वोच्च नागरिक पुरस्कारों में से एक हैं। ये पुरस्कार, विभिन्न क्षेत्रों जैसे कला, समाज सेवा, लोक-कार्य, विज्ञान और इंजीनियरी, व्यापार और उद्योग, चिकित्सा, साहित्य और शिक्षा, खेल-कूद, सिविल सेवा इत्यादि के संबंध में प्रदान किए जाते हैं। ये पुरस्कार प्रत्येक वर्ष गणतंत्र दिवस के अवसर पर उद्घोषित किये जाते हैं तथा सामान्यतः मार्च/अप्रैल माह में राष्ट्रपति भवन में आयोजित किये जाने वाले सम्मान समारोहों में भारत के राष्ट्रपति द्वारा प्रदान किये जाते हैं।

यह भी पढ़े :
भारत के राज्यो के प्रमुख उत्पादन

पद्म पुरस्कार उन विजेताओ को दिया जाता है :-
देश के दूसरे सबसे प्रतिष्ठित नागरिक सम्मान पद्म पुरस्कारों की घोषणा 25 जनवरी 2019 को कर दी गई राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कुल 112 व्यक्तियों को पद्म पुरस्कार दिए जाने की घोषणा की. इस बार 4 को पद्म विभूषण, 14 को पद्मभूषण और 94 को पद्मश्री सम्‍मान दिया जाएगा |
इस पुरस्कार से सम्मानित किये जाने वाले लोग देशभर से और समाज के सभी वर्गों से है. गृह मंत्रालय की ओर से दी गई आधिकारिक सूचना के मुताबिक स्व. अभिनेता कादर खान, स्व. कुलदीप नैय्यर, क्रिकेटर गौतम गंभीर, वरिष्ठ अधिवक्ता एचएस फुल्का, वैज्ञानिक नंबी नारायण, पर्वतरोही बछेंद्री पाल और दक्षिण के अभिनेता मोहन लाल सहित 112 हस्तियों को पद्म अवार्ड्स के लिए चुना गया है |
कुल 112 लोगों की सूची में 21 महिलाएं और 11 विदेशी और एनआरआई हैं. तीन मरणोपरांत पुरस्कार प्राप्त करने वाले और एक ट्रांसजेंडर शामिल हैं. यह सम्मान कला, सामाजिक कार्य, जन कल्याण, सरकारी क्षेत्र, विज्ञान और इंजीनियरिंग, व्यापार और उद्योग, मेडिसिन, साहित्य, शिक्षा, खेल, सिविल सेवा आदि क्षेत्रों में दिए जाते हैं |

गृह मंत्रालय द्वारा पद्म पुरस्कार सिफारिशें :-
गृह मंत्रालय को वर्ष 2019 के पद्म पुरस्कारों के लिए करीब 50,000 सिफारिशें आईं हैं। ये पुरस्कार विभिन्न क्षेत्रों में विशिष्ट एवं असाधारण उपलब्धियों के लिए दिए जाते हैं। गृह मंत्रालय की ओर से जारी एक बयान में यह कहा गया हैृ। बयान में कहा गया है कि पद्म पुरस्कारों के लिए प्राप्त 49,992 सिफारिशें 2010 में प्राप्त सिफारिशों से 32 गुणा अधिक है। 2010 में आम जनता से मात्र 1313 सिफारिशें प्राप्त हुई थीं। 2017 में कुल 35,595 सिफारिशें और 2016 में 18,768 सिफारिशें प्राप्त हुई थीं।
2018 में 84 असाधारण व्यक्तियों को पद्म पुरस्कारों से सम्मानित किया गया था, वहीं 2017 में कुल 89 विशिष्ट लोगों को पुरस्कार दिये गए थे। पद्म विभूषण असाधारण और उत्कृष्ट सेवा, पद्म भूषण उच्च स्तर की उत्कृष्ट सेवा और पद्म श्री किसी भी क्षेत्र में उत्कृष्ट सेवा के लिए दिया जाता है। यह पुरस्कार विभिन्न क्षेत्रों में असाधारण एवं उत्कृष्ट उपलब्धियों एवं सेवाओं के लिए दिये जाते हैं। इनमें कला, साहित्य और शिक्षा, खेल, औषधि, सामाजिक कार्य, विज्ञान, अभियंत्रिकी, सार्वजनिक मामलों, नागरिक सेवा, व्यापार और उद्योग आदि शामिल हैं।
कोई भी व्यक्ति चाहे वह किसी भी वर्ग, पेशे या लिंग का हो वह इन पुरस्कारों के लिए पात्र है। इन पुरस्कारों की शुरूआत 1954 में हुई थी और इसकी घोषणा प्रत्येक वर्ष गणतंत्र दिवस पर की जाती है। सरकार ने पद्म पुरस्कारों को सही मायने में ‘जन पुरस्कार के रूप में बदल दिया है। लोगों को प्रोत्साहित किया जा रहा है कि वे उन गुमनाम नायकों की सिफारिश करें जो इन शीर्ष नागरिक पुरस्कारों के असली हकदार हैं। वर्ष 2016 में पद्म पुरस्कारों के सिफारिश प्रक्रिया को ऑनलाइन कर दिया गया था। इसके लिए नागरिकों को अधिक से अधिक संख्या में शामिल होने के लिए एक सरल, सुगम और सुरक्षित ऑनलाइन प्लेटफार्म तैयार किया गया।
पद्म पुरस्कारों की ऑनलाइन सिफारिश प्रक्रिया एक मई , 2018 को शुरू हुई और नामांकन दाखिल करने की अंतिम तिथि 15 सितंबर, 2018 थी। पुरस्कारों की घोषणा गणतंत्र दिवस, 2019 के अवसर पर की जाएगी। व्यापक विचार करने के लिए केंद्रीय मंत्रालयों, विभागों, राज्यों, केंद्र शासित प्रदेशों, भारत रत्न और पद्म विभूषण पुरस्कार विजेताओं, उत्कृष्ट संस्थाओं के साथ ही अन्य स्रोतों से सिफारिश आमंत्रित की गयीं। सभी नागरिक सिफारिश कर सकते हैं जिसमें स्वयं की सिफारिश भी शामिल है।

Award Notes
Post Related :- Award Notes
Leave A Comment For Any Doubt And Question :-

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!