भारत के प्रमुख प्रदेश और उनके राज्‍य पशु

सभी राज्यों के राजकीय फल , सभी राज्यों के राजकीय पक्षी , भारत के सभी राज्यों के राजकीय चिन्ह PDF , सभी राज्यों के राजकीय वृक्ष , भारत का राजकीय पशु , सभी राज्यों के राजकीय पुष्प , राजस्थान का राज्य पशु , हिमाचल प्रदेश का राज्य वृक्ष ,

भारत के प्रमुख प्रदेश और उनके राज्‍य पशु

भारत के प्रमुख प्रदेश और राज्य पशु :-
भारत को “राज्यों के संघ” के रूप में जाना जाता है। हर राज्य की अपनी अलग जलवायु, कला-संस्कृति, पहनावा और खान-पान है। यही कारण है कि प्रत्येक भारतीय राज्य द्वारा अपनी पहचान के लिए अलग-अलग प्रतीक निर्धारित किये गए हैं । इस लेख में हम भारत के सभी राज्यों के राजकीय पशु और राजकीय पक्षियों का विवरण दे रहे हैं| इस लेख में हम भारत के सभी राज्यों के राजकीय पशु और राजकीय पक्षियों का विवरण दे रहे हैं
अधिकांश राज्यों में राजकीय पशु या राजकीय पक्षी को मारना एक अपराध है। ये राजकीय पशु और पक्षी भारत की जैव विविधता और विशेषकर राज्य की जैव विविधता का अहम हिस्सा हैं| राजस्थान का राजकीय पशु ऊंट (जो कि राज्य में पर्यटन को बढ़ावा देता है) है जबकि राजकीय पक्षी सोहन चिड़िया है। तेलंगाना का राजकीय पशु चीतल और राजकीय पक्षी नीलकंठ है।

यह भी पढ़े :
भारत के मुखिय नदियों

भारत में राष्ट्रीय पशु :-
असम का राष्ट्रीय पशु औऱ पक्षी सफेद पंखों वाला लकड़ी का बत्तख और एक सींग वाला गैंडा
गोवा का राष्ट्रीय पशु औऱ पक्षी – गौर और ब्लैक क्रेस्टेड बुलबुल
भारतीय बाइसन या गौर एक बड़ी बोवाइन है सबसे बड़ी आबादी आज केवल भारत में पाई जाती है। भारतीय बाइसन दुनिया में पाए जाने वाले जंगली मवेशियों की सबसे बड़ी प्रजाति है, जो विलुप्त ऑरोच और जंगली पानी की भैंसों से बड़ी है।
गुजरात का राष्ट्रीय पशु औऱ पक्षी – ग्रेटर फ्लेमिंगो और भारतीय शेर
गुजरात भारत का एकमात्र स्थान है जहाँ शेर पाए जाते हैं और गिर राष्ट्रीय उद्यान 535 भारतीय शेरों का अकेला घर है।
हरियाणा का राष्ट्रीय पशु औऱ पक्षी – ब्लैकबक और ब्लैक फ्रैंकोलिन
हिमाचल प्रदेश का राष्ट्रीय पशु औऱ पक्षी – पश्चिमी ट्रेगोपन और हिम तेंदुआ
हिम तेंदुआ पांच बड़ी बिल्ली परिवार के मूल निवासी हैं जो हिमालय की भारतीय पर्वत श्रृंखलाओं में से एक हैं। हिमाचल प्रदेश का ग्रेट हिमालयन नेशनल पार्क भारत में स्नो लेपर्ड के लिए सबसे अच्छी जगह है।

भारत में जम्मू कश्मीर का राष्ट्रीय पशु औऱ पक्षी :- हंगुल और काली गर्दन वाली क्रेन
हंगुल भारत में पाई जाने वाली एल्क की एकमात्र प्रजाति है जिसे हिमाचल और जम्मू के कुछ विशिष्ट क्षेत्रों में पाए जाने वाले हिरणों की लुप्तप्राय प्रजातियों में से एक के रूप में सूचीबद्ध किया गया है।

भारत में झारखंड का राष्ट्रीय पशु औऱ पक्षी – हाथी और कोयल
भारतीय हाथियों को लुप्तप्राय और खतरे में रहने, नुकसान और विखंडन के रूप में सूचीबद्ध किया गया है। हाथी मुख्य भूमि भारत के मूल निवासी हैं और भारत में पाए जाने वाले सबसे बड़े जंगली जानवर हैं।

भारत में कर्नाटक का राष्ट्रीय पशु औऱ पक्षी – भारतीय रोलर और भारतीय हाथी
केरल का राष्ट्रीय पशु औऱ पक्षी – भारतीय हाथी और ग्रेट हॉर्नबिल
महाराष्ट्र का राष्ट्रीय पशु औऱ पक्षी – पीले पैर वाले हरे कबूतर और भारतीय विशालकाय गिलहरी
पीले पैर वाले हरे कबूतर महाराष्ट्र के राज्य पक्षी हैं, लेकिन वन उल्लू राज्य पक्षी हरियाली की जगह ले सकते हैं। यह अत्यंत दुर्लभ पक्षी, वन उल्लू महाराष्ट्र के मेलघाट क्षेत्र में पाया जाता है।

मध्य प्रदेश का राष्ट्रीय पशु औऱ पक्षी – बारासिंघा और एशियाई स्वर्ग फ्लाईकैचर
मणिपुर का राष्ट्रीय पशु औऱ पक्षी – संगाई हिरण और ह्यूम तीतर
भारत बड़ी संख्या में हिरण प्रजाति, मृग और जंगली बकरी का घर है। संगई हिरण दुर्लभ और लुप्तप्राय भौंह-हिरण मृग केवल मणिपुर में पाया जाता है।

मिजोरम का राष्ट्रीय पशु औऱ पक्षी – हूलॉक गिब्बन और ह्यूम तीतर
हूलॉक गिब्बन केवल भारत में पाई जाने वाली प्रजाति और गिब्बनों की दूसरी सबसे बड़ी प्रजाति है। पश्चिमी भारत में पश्चिमी चोंच गिब्बोन छोटी आबादी में पाए जाते हैं।

मेघालय का राष्ट्रीय पशु औऱ पक्षी – क्लाउडेड तेंदुआ और पहाड़ी मैना
क्लाउडेड लेपर्ड भारत के उत्तर पूर्व राज्यों में पाए जाने वाले मध्यम आकार की जंगली बिल्ली में से एक है और इसे आवास हानि, वनों की कटाई और अवैध व्यापार के कारण कमजोर के रूप में वर्गीकृत किया जाता है।

नागालैंड का राष्ट्रीय पशु औऱ पक्षी – बेलीथ ट्रगोपैन और गाल
गाल को मिथुन के नाम से भी जाना जाता है, जिसे गौर के पालतू रूप के रूप में जाना जाता है, गाल अरुणाचल प्रदेश और नागालैंड का राजकीय पशु है।

ओडिशा का राष्ट्रीय पशु औऱ पक्षी – सांभर और इंडियन रोलर
पंजाब का राष्ट्रीय पशु औऱ पक्षी – ब्लैकबक और उत्तरी गोशाला
ब्लैक बक भारतीय उपमहाद्वीप का एक मृग है, जो अवैध शिकार, भारी अवैध शिकार और आवास नुकसान के कारण लुप्तप्राय प्रजातियों में आता है। प्रसिद्ध भारतीय ब्लैक हिरन मृग भारत में प्रिटियर मृग में से एक है।

सिक्किम का राष्ट्रीय पशु औऱ पक्षी – रक्त तीतर और लाल पांडा
सिक्किम की महत्वपूर्ण जानकारी
राजस्थान का राष्ट्रीय पशु औऱ पक्षी – ग्रेट इंडियन बस्टर्ड और चिंकारा
तेलंगाना का राष्ट्रीय पशु औऱ पक्षी – चित्तीदार हिरण और भारतीय रोलर
देश के लिए नया 29 वां राज्य, तेलंगाना राज्य ने निम्नलिखित चार आइकन की घोषणा की है, नए राज्य के रूप में भारतीय रोलर राज्य पक्षी, राज्य पशु हिरण, जम्मु चेट्टू राज्य वृक्ष के रूप में और तांगेदु फूल राज्य फूल के रूप में।

तमिलनाडु का राष्ट्रीय पशु औऱ पक्षी – एमराल्ड डोव और नीलगिरि तहर
त्रिपुरा का राष्ट्रीय पशु औऱ पक्षी – ग्रीन इंपीरियल कबूतर और फेयरेस लंगूर
भारत सदाबहार पश्चिमी घाट से उत्तर पूर्व राज्यों में वितरित किए गए बंदरों की प्रजातियों के बड़े परिवार का घर है। फिएरे का लंगूर त्रिपुरा का राजकीय पशु है लेकिन लुतुंग की प्रजाति है।

उत्तराखंड का राष्ट्रीय पशु औऱ पक्षी – कस्तूरी मृग और हिमालयन मोनाल
उत्तर प्रदेश का राष्ट्रीय पशु औऱ पक्षी – सरस क्रेन और बरसिंघा
पश्चिम बंगाल का राष्ट्रीय पशु औऱ पक्षी फिशिंग कैट और व्हाइट ब्रेस्टेड किंगफिशर
मत्स्य पालन बिल्ली मैंग्रोव दलदलों की एक मध्यम आकार की जंगली बिल्ली है, जो मुख्य रूप से हिमालय की तलहटी में पाई जाती है, फिनिश कैट भारत में पाई जाने वाली छोटी जंगली बिल्ली की ज्ञात प्रजातियों में से एक है।

भारत में केंद्र शासित प्रदेश में राज्य पशु और पक्षी :-
नीलगाय और घर की गौरैया नई दिल्ली की राष्ट्रीय राजधानी पशु है।
लक्षद्वीप UT पशु तितली मछली है।
डुगॉन्ग अंडमान और निकोबार द्वीप समूह का प्रतीक है।
पुदुचेरी के आधिकारिक पशु और पक्षी गिलहरी और एशियाई कोयल हैं

भारत के प्रमुख प्रदेश में राज्‍य पशु की घोषण :-
किसी पशु को राष्ट्रीय पशु, किसी पक्षी को राष्ट्रीय पक्षी अथवा किसी फूल को राष्ट्रीय पुष्प घोषित करने से भले ही वन्यजीवों पर कोई प्रत्यक्ष प्रभाव नहीं पड़े लेकिन देश के नागरिकां में प्रकृति, पर्यावरण तथा जीव- जन्तुओं के प्रति सजगता और संवेदनशीलता का विस्तार तो इससे होता ही है। हमारे देश की विडम्बना यह है कि इन पशुओं, पक्षियों, फूलों आदि के बारे में मुकम्मिल जानकारी भी व्यापक स्तर पर उपलब्ध नहीं है। बाघ हमारा राष्ट्रीय पशु है। इस पर अनेक आलेख और पुस्तकें प्रकाशित हैं। इस तथ्य से लोग अवगत भी हैं, पर कितनों को पता है कि 9 जुलाई 1969 के पहले तक हमारा राष्ट्रीय पशु सिंह था। इसी तरह दिल्ली को छोड़कर सभी राज्यों ने किसी न किसी वन्यजीव को अपना राज्य-पशु घोषित कर रखा है इसकी जानकारी भी बहुत कम लोगों को है। राष्ट्रीय पशु सहित राज्य-पशुओं की कुल संख्या 21 है। सामान्यतया एक वन्य जीव को एक राज्य ने अपना राज्य-पशु घोषित किया है, किन्तु कुछ वन्य जीव ऐसे हैं, जिन्हें दो-दो राज्यों ने अपना राज्य-पशु घोषित किया है। गौर, मिथुन, बारहसिंगा और कस्तूरी मृग ऐसे ही वन्यजीव हैं। हाथी एक ऐसा वन्यजीव है, जिसे चार राज्यों ने अपना राज्य-पशु घोषित कर रखा है। समाजशास्त्री और पर्यावरणविद् डॉ. परशुराम शुक्ल ने इस पुस्तक में इन पशुओं के बारे में विस्तार से जानकारियाँ दी हैं जो रोचक भी हैं और ज्ञानवर्द्धक भी। सबसे खास बात यह है कि अपने विषय पर यह अकेली पुस्तक है।

भारत के प्रमुख प्रदेश और उनके राज्‍य पशु :-
जिस प्रकार भारत के राष्‍ट्रीय पशु और पक्षी घोषित किये गये है, उसी प्रकार भारत के राज्‍यों के लिये भी पशु और पक्षी को राज्‍य पशु और राज्‍य पक्षी घोषित किया गया है ताे आईये जानते हैं भारत के प्रमुख प्रदेश और उनके राज्‍य पशु
आंध्र प्रदेश – काला हिरन (Blackbuck)
अरुणाचल प्रदेश – मिथुन (Mithun)
असम – एक सींग वाले गेंडा (One-horned rhinoceros)
बिहार – बैल (Ox)
छत्तीसगढ़ – जंगली भैंस (Wild buffalo)
दिल्ली – नीलगाय (Nilgai)
गोवा – गौर (Gaur)
गुजरात – एशियाई शेर (Asiatic lion)
हरियाणा – काला हिरन (Blackbuck)
हिमाचल प्रदेश – हिम तेंदुए (Snow leopard)
जम्मू और कश्मीर – हंगुल (Hangul)
झारखंड – हाथी (elephant)
कर्नाटक – हाथी (elephant)
केरल – हाथी (elephant)
मध्य प्रदेश – बारहसिंगा या दलदल का मृग (Rucervus duvaucelii)
महाराष्ट्र – विशालकाय गिलहरी (Giant squirrel)
मणिपुर – संगाई (Sangai)
मेघालय – चितकबरे तेंदुए (Clouded leopard)
मिजोरम – सीरो (Serow)
नागालैंड – मिथुन (Mithun)
ओडिशा – सांभर (Sambar)
पुडुचेरी – गिलहरी (Squirrel)
पंजाब – काला हिरन (Blackbuck)
राजस्थान – ऊंट (Camel)
सिक्किम – लाल पांडा (Red panda)
तमिलनाडु – नीलगिरि तहर (Nilgiri tahr)
तेलंगाना – हिरण (Deer)
त्रिपुरा – फेरीज लंगूर (Phayre’s langur)
उत्तराखंड – कस्तूरी हिरन (Musk deer)
उत्तर प्रदेश – बारहसिंगा या दलदल का मृग (Rucervus duvaucelii)
पश्चिम बंगाल – फिशिंग कैट (Fishing cat) |

Indian History Notes

Leave a Comment