दादा साहब फाल्के पुरस्कार

artusi gk , दादा साहेब फाल्के पुरस्कार किस क्षेत्र में दिया जाता है , dada saheb phalke puraskar list , दादा साहेब फाल्के पुरस्कार विजेता , dada rashi , दादा साहेब फाल्के पुरस्कार किस मंत्रालय द्वारा किया जाता है , दादा साहेब फाल्के पुरस्कार लिस्ट , दादा साहब फाल्के पुरस्कार 2020 ,

दादा साहब फाल्के पुरस्कार क्या है , दादा साहब फाल्के पुरस्कार की घोषणा , दादा साहब फाल्के पुरस्कार किस क्षेत्र में दिया जाता है , दादा साहब फाल्के पुरस्कार का इतिहास , दादा साहब फाल्के पुरस्कार की राशि , दादा साहब फाल्के पुरस्कार के विजेता , दादा साहब फाल्के पुरस्कार में क्या दिया जाता है , दादासाहेब फाल्के फिल्म फाउंडेशन पुरस्कार , दादा साहब फाल्के पुरस्कार के विजेता की लिस्ट ,

दादा साहब फाल्के Aword क्या है :-
दादा साहब फाल्के पुरस्कार भारत सरकार की ओर से दिया जाने वाला एक वार्षिक पुरस्कार है, जो किसी व्यक्ति विशेष को भारतीय सिनेमा में उसके आजीवन योगदान के लिए दिया जाता है। इस पुरस्कार का प्रारम्भ दादा साहब फाल्के के जन्म शताब्दि-वर्ष 1969 से हुआ। उस वर्ष राष्ट्रीय फ़िल्म पुरस्कार के लिए आयोजित 17वें समारोह में पहली बार यह सम्मान अभिनेत्री देविका रानी को प्रदान किया गया।[1] तब से अब तक यह पुरस्कार लक्षित वर्ष के अंत में अथवा अगले वर्ष के आरम्भ में ‘राष्ट्रीय फ़िल्म पुरस्कार’ के लिए आयोजित समारोह में प्रदान किया जाता है। वर्तमान में इस पुरस्कार में 10 लाख रुपये और स्वर्ण कमल दिये जाते हैं।

दादा साहब फाल्के Aword की घोषणा :-
महानायक अमिताभ बच्चन को दादा साहेब फाल्के अवार्ड से सम्मानित किया जाएगा। सूचना एवं प्रसारण मंत्री केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने ट्वीट कर यह ऐलान किया। बता दें, यह देश में सिनेमा का सबसे बड़ा सम्मान है।
जावड़ेकर ने अपने ट्वीट में लिखा, ‘अमिताभ बच्चन ने अपने शानदार अभिनय से लोगों का मनोरंजन किया है और वे 2 जनरेशन के लिए प्रेरणा हैं। यही कारण है कि उन्हें निर्विरोध दादा साहेब फाल्के अवार्ड के लिए चुना गया है। पूरा देश और इंटरनेशनल कम्युनिटी खुशी है। मैं भी उन्हें हार्दिक बधाई देता हूं।

दादा साहब फाल्के पुरस्कार किस क्षेत्र में दिया जाता है :-
अभिनेता अमिताभ बच्चन को दादा साहब फाल्के पुरस्कार दिया जाएगा. ये भारतीय सिनेमा का सबसे बड़ा पुरस्कार माना जाता है |
प्रशंसकों के बीच ‘सदी के महानायक’ के तौर पर मशहूर अमिताभ बच्चन बॉलीवुड में 50 साल पूरे कर चुके हैं. उन्हें ये पुरस्कार दिए जाने की जानकारी सूचना प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने दी है |
जावड़ेकर ने ट्विटर पर लिखा है, “लीजेंड अमिताभ बच्चन, जिन्होंने दो पीढ़ियों का मनोरंजन किया और उन्हें प्रेरित किया, को एकमत से दादा साहब फाल्के पुरस्कार के लिए चुना गया है. पूरा देश और अंतरराष्ट्रीय समुदाय ख़ुश है. उन्हें मेरी हार्दिक बधाई |
बॉलीवुड में अमिताभ बच्चन ‘मेगा स्टार’ और ‘बिग बी’ के नाम से भी मशहूर हैं. उनकी पहली फ़िल्म ‘सात हिंदुस्तानी’ थी. ये फ़िल्म साल 1969 में रिलीज़ हुई थी |
साल 1973 में रिलीज़ हुई प्रकाश मेहरा निर्देशित फ़िल्म ‘ज़ंजीर’ से अमिताभ बच्चन ने बॉक्स ऑफि़स पर कामयाबी की दस्तक दी और क़रीब दो दशक तक हिंदी फ़िल्मों के सबसे सफल नायक बने रहे. इसी दौर में उन्हें ‘सुपरस्टार’ और ‘महानायक’ जैसी उपाधि दी गईं |
कामयाबी के इस दौर में अमिताभ बच्चन ने प्रकाश मेहरा के अलावा मनमोहन देसाई, यश चोपड़ा और ऋषिकेश मुखर्जी के साथ कई फ़िल्में की |
करियर के दूसरे दौर में उन्होंने नए निर्देशकों के साथ काम किया. इस दौरान उन्होंने ‘ब्लैक’ और ‘पा’ जैसे प्रयोगधर्मी फ़िल्में की. अमिताभ बच्चन ने टीवी पर कामयाबी का नया इतिहास रचा. वो साल 2000 से गेम शो ‘कौन बनेगा करोड़पति’ को होस्ट कर रहे हैं |
अमिताभ बच्चन को चार राष्ट्रीय फ़िल्म पुरस्कार और 15 फ़िल्मफेयर अवॉर्ड समेत कई पुरस्कार मिल चुके हैं. साल 2015 में उन्हें पद्म विभूषण से सम्मानित किया गया था |
76 साल के अमिताभ बच्चन फ़िल्म और टीवी पर लगातार सक्रिय बने हुए हैं
करीब पांच दशकों से बॉलीवुड में सक्रिय ‘सदी के महानायक’ कहे जाने वाले वरिष्ठ अभिनेता अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) को दादा साहेब फाल्के अवॉर्ड (Dada Saheb Phalke Award) से नवाजा जाएगा। केंद्र सरकार ने मंगवार, 24 सितंबर 2019 की शाम ही इसकी सूचना दी है।
दादा साहेब फाल्के अवॉर्ड क्यों इतना खास है |

दादा साहब फाल्के पुरस्कार का इतिहास :-
भारतीय सिनेमा का सर्वोच्च पुरस्कार, भारतीय सिनेमा के पितामह कहे जाने वाले दादा साहब फाल्के के नाम पर दिया है. यह पुरस्कार 1969 में भारत सरकार द्वारा शुरू किया गया था. यह पुरस्कार; सूचना और प्रसारण मंत्रालय द्वारा स्थापित संगठन फिल्म महोत्सव निदेशालय द्वारा राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार समारोह में प्रतिवर्ष दिया जाता है. यह पुरस्कार भारतीय सिनेमा के विकास में उत्कृष्ट योगदान देने वाले व्यक्तियों को दिया जाता है।
वर्तमान में इस पुरस्कार के अंतर्गत विजेता को दस लाख रुपये नकद, स्वर्ण कमल पदक व एक शाल प्रदान की जाती है. राष्ट्रीय फ़िल्म पुरस्कार के लिए आयोजित 17वें समारोह में पहली बार यह सम्मान अभिनेत्री देविका रानी को प्रदान किया गया था

दादा साहब फाल्के पुरस्कार की राशि :-
यह पुरस्कार फिल्म व सिनेमा जगत का सर्वोच्च सम्मान है। यह पुरस्कार भारतीय सिनेमा के विकास में उत्कृष्ट योगदान के लिये प्रदान किया जाता है।
यह पुरस्कार भारत सरकार द्वारा ‘भारतीय सिनेमा के पितामह’ कहे जाने वाले दादा साहेब फाल्के की स्मृति में वर्ष 1969 में शुरू किया गया।
यह पुरस्कार सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय द्वारा प्रदान किया जाता है।
वर्ष 1969 में पहली बार देविका रानी को इस पुरस्कार से सम्मानित किया गया।
दादा साहब फाल्के पुरस्कार एक स्वर्ण कमल (गोल्डन लोटस), एक शॉल और 1,000,000 रुपए का नकद धनराशि दी जाती है।
अमिताभ बच्चन को वर्ष 1984 में पद्मश्री, वर्ष 2001 में पद्म भूषण और वर्ष 2015 में पद्मविभूषण से सम्मानित किया जा चुका है।

दादा साहब फाल्के पुरस्कार के विजेता :-
राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार कमेटी के चैयरमैन शेखर कपूर ने शुक्रवार को 65वें नेशनल अवॉर्ड्स की घोषणा कर दी है। विनोद खन्ना को उनकी लाइफटाइम अचीवमेंट के लिए दादा साहेब फाल्के अवार्ड के लिए चुना गया है। विनोद खन्ना को मरणोपरांत इस पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा। विनोद खन्ना का पिछले साल अप्रैल में लंबी बीमारी के बाद 70 साल की उम्र में निधन हो गया था। दादा साहेब फाल्के अवार्ड को फिल्म इंडस्ट्री का बेहद प्रतिष्ठित अवार्ड माना जाता है। इस अवार्ड को 1969 में शुरू किया गया था।
देविका रानी को दिया गया था पहला दादा साहेब अवार्ड भारतीय सिनेमा में किसी के आजीवन योगदान के लिए दादा साहेब फाल्के दिए जाने की शुरुआत 1969 में हुई। 1969 में भारतीय सिनेमा के जनक कहे जाने वाले दादा साहब फाल्के की सौंवीं जयंती के मौके पर इस पुरस्कार की शुरुआत हुई। 1969 में मशहूर अभिनेत्री देविका रानी को ये अवार्ड दिया गया|

दादा साहब फाल्के पुरस्कार में क्या दिया जाता है :-
ये दिया जाता दादा साहेब फाल्के अवार्ड में सूचना और प्रसारण मंत्रालय राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार समारोह के मौके पर दादासाहेब फाल्के पुरस्कार देता है। इस पुरस्‍कार में एक स्वर्ण कमल पदक, एक शाल और 10 लाख का नकद पुरुस्कार दिया जाता है

दादासाहेब फाल्के फिल्म फाउंडेशन पुरस्कार :-
मुंबई में आयोजित दादासाहेब फाल्के फिल्म फाउंडेशन द्वारा आयोजित दादासाहेब फाल्के पुरस्कारों में बॉलीवुड अभिनेत्री भूमि पेडनेकर, सोनम कपूर और अक्षय कुमार क्रमश: सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री और सर्वश्रेष्ठ अभिनेता पुरस्कार जीते हैं.
मनीषा कोइराला ने जीता ‘मोस्ट वर्सटाइल एक्ट्रेस’ पुरस्कार. प्रसिद्ध अभिनेता-निर्देशक राकेश रोशन को अभिनेता, निर्माता और निर्देशक के रूप में उनके योगदान के लिए लाइफटाइम अचीवमेंट पुरस्कार दिया गया

दादा साहब फाल्के पुरस्कार के विजेता की लिस्ट :-
वर्ष (समारोह) नाम फिल्म इंडस्ट्री
2018 (66 वां) अमिताभ बच्चन हिन्दी
2017 (65वां) विनोद खन्ना हिन्दी
2016 (64वां) कसिनाथुनी विश्वनाथ तेलुगू
2015 (63वां) मनोज कुमार हिन्दी
2014 (62वां) शशि कपूर हिन्दी
2013 (61वां) गुलजार हिन्दी
2012 (60वीं) प्राण हिन्दी
2011 (59वां) सौमित्र चटर्जी बंगाली
2010 (58वां) के. बालचन्दर तमिल तेलुगू
2009 (57वां) डी. रामानायडू तेलुगू
2008 (56वां) वी. के. मूर्ति हिन्दी
2007(55वां) मन्ना डे बंगाली हिन्दी
2006 (54वां) तपन सिन्हा बंगाली हिन्दी
2005 (53वां) श्याम बेनेगल हिन्दी
2004 (52वां) अडूर गोपालकृष्णन मलयालम
2003 (51वां) मृणाल सेन बंगाली
2002 (50वां) देव आनन्द हिन्दी
2001 (49वां) यश चोपड़ा हिन्दी
2000 (48वां) आशा भोसले हिन्दी मराठी
1999 (47वां) ऋषिकेश मुखर्जी हिन्दी
1998 (46वां) बी. आर. चोपड़ा हिन्दी
1997 (45वां) कवि प्रदीप हिन्दी
1996 (44वां) शिवाजी गणेशन तमिल
1995 (43वां) राजकुमार कन्नड़
1994 (42वीं) दिलीप कुमार हिन्दी
1993 (41वां) मजरूह सुल्तानपुरी हिन्दी
1992 (40वां) भूपेन हजारिका असमिया
1991 (39वां) भालजी पेंढारकर मराठी
1990 (38वां) अक्कीनेनी नागेश्वर राव तेलुगू
1989 (37वां) लता मंगेशकर हिन्दी, मराठी
1988 (36वां) अशोक कुमार हिन्दी
1987 (35वां) राज कपूर हिन्दी
1986 (34वां) बी. नागी. रेड्डी तेलुगू
1985 (33वां) वी. शांताराम हिन्दी मराठी
1984 (32वां) सत्यजीत रे बंगाली
1983 (31वां) दुर्गा खोटे हिन्दी मराठी
1982 (30वां) एल. वी. प्रसाद हिन्दी तमिल तेलुगू
1981 (29वां) नौशाद हिन्दी
1980 (28वां) पैडी जयराज हिन्दी तेलुगू
1979 (27वां) सोहराब मोदी हिन्दी
1978 (26वां) रायचन्द बोराल बंगाली हिन्दी
1977 (25वां) नितिन बोस बंगाली हिन्दी
1976 (24वां) कानन देवी बंगाली
1975 (23वां) धीरेन्द्रनाथ गांगुली बंगाली
1974 (22वां) बोम्मीरेड्डी नरसिम्हा रेड्डी तेलुगू
1973 (21वां) रूबी मयेर्स (सुलोचना) हिन्दी
1972 (20वां) पंकज मलिक बंगाली एवं हिन्दी
1971 (19वां) पृथ्वीराज कपूर हिन्दी
1970 (18वां) बीरेन्द्रनाथ सिरकर बंगाली
1969 (17वां) देविका रानी हिन्दी
भारतीय सिनेमा के विकास में योगदान देने वाले फिल्मी हस्तियों को सम्मानित करने के उद्देश्य से भारत सरकार द्वारा 1969 में दादा साहेब फाल्के पुरस्कार का शुभारम्भ किया गया था। इस पुरस्कार की पहली विजेता देविका रानी थी।

Award List Qustion Answer

Leave a Comment

error: Content is protected !!