COMPUTER क्या है , Computer Full Form

कंप्यूटर का इतिहास भारत में, कम्प्यूटर का विकास, कंप्यूटर का परिचय और विकास, कम्प्यूटर का उपयोग, कंप्यूटर आविष्कारक, कंप्यूटर का उद्भव और विकास, कंप्यूटर का क्रमिक विकास, हिस्ट्री ऑफ कंप्यूटर अबेकस, कंप्यूटर का अविष्कार किसने किया, Computer Full Form, Computer Ka Hindi Name Kya Hai, कंप्यूटर का आविष्कार किसने किया, कंप्यूटर Ke Prakar, सुपर कंप्यूटर, मेनफ्रेम कंप्यूटर, मिनी कंप्यूटर, माइक्रो कंप्यूटर, COMPUTER क्या है ,

COMPUTER क्या है

COMPUTER क्या है :- कंप्यूटर एक ऐसा उपकरण है जिसे कंप्यूटर प्रोग्रामिंग के माध्यम से स्वचालित रूप से अंकगणित या तार्किक संचालन के अनुक्रम को पूरा करने का निर्देश दिया जा सकता है। आधुनिक कंप्यूटरों में संचालन के सामान्यीकृत सेटों का पालन करने की क्षमता होती है, जिन्हें प्रोग्राम कहा जाता है। ये प्रोग्राम कंप्यूटरों को अत्यधिक विस्तृत कार्य करने में सक्षम बनाते हैं, कंप्यूटर का उपयोग विभिन्न प्रकार के औद्योगिक और उपभोक्ता उपकरणों के लिए नियंत्रण प्रणाली के रूप में किया जाता है। इसमें माइक्रोवेव ओवन और रिमोट कंट्रोल, कारखाने के उपकरण जैसे औद्योगिक रोबोट और कंप्यूटर एडेड डिज़ाइन जैसे साधारण विशेष प्रयोजन के उपकरणऔर सामान्य प्रयोजन के उपकरण जैसे पर्सनल कंप्यूटर और मोबाइल डिवाइस जैसे स्मार्टफोन शामिल हैं ।

यह भी पढ़े :
ब्रह्मांड क्या है

कंप्यूटर का अविष्कार किसने किया :-“चार्ल्स बेबेज को कंप्यूटर का जनक या पिता कहा जाता है चार्ल्स बेबेज एक गणित के प्रोफेसर थे जिन्होंने पहले कंप्यूटर का निर्माण किया.”
1) पहली जनरेशन– दुनिया में सबसे पहले एक भारी भरकम कंप्यूटर की शुरुवात हुई थी जो 1940-1956 तक चली थी। इस समय कंप्यूटर में वैक्यूम ट्यूब का इस्तेमाल किया जाता था। यह आकार में बड़े होते थे इसीलिए इन्हे संभाल कर रखना तो मुश्किल होता ही था साथ ही इसमें टूट फूट का खतरा भी बहुत रहता था। यह टयूब्स बहुत ही जल्दी गरम हो जाते थे और बहुत ही ज्यादा स्थान घेरते थे।
2) दूसरी जनरेशन– इस समय में वैक्यूम टयूब की जगह ट्रांज़िस्टर का इस्तेमाल किया गया जो थोड़े हल्के होते थे। यह जनरेशन 1956-1963 तक चली थी। पहली जनरेशन की उपेक्षा ये थोड़े बहतर थे। ये गर्मी भी कम उत्पन करते थे साथ ही इनका आकार भी थोड़ा छोटा होता था जिससे इन्हे रखने में ज्यादा परेशानी नहीं होती थी।
3) तीसरी जनरेशन– इस जनरेशन को 1964-1971 तक चलाया गया था। इसमें इंटीग्रेटेड सर्किट यानि की चिप का इस्तेमाल किया जाता था जो आकार में तो छोटा होता ही था साथ ही गति में भी बहुत बहतर था। इस जनरेशन की गति नैनो सेकंड और मिली सेकंड हो गई थी जो बाकि दो जनरेशन की अपेक्षा बहुत बहतर थी।
4) चौथी जनरेशन– इस जनरेशन में माइक्रोप्रोसेसर आ गया था जो सबसे ही ज्यादा बेस्ट था। यह जनरेशन 1971-1985 तक चली थी। इस कंप्यूटर में VSLI का उपयोग करके हज़ारो ट्रांसिस्टर्स को एक साथ जोड़ा जाता था जिसकी वजह से कंप्यूटर की गति बहुत तेज़ हो गई थी। पर्सनल कंप्यूटर की शुरुवात इस जनरेशन से शुरू हो गई थी।
5) पांचवी जनरेशन– यह जनरेशन आर्टिफीसियल इंटेलीजेंसी पर आधारित है। इसपर अभी भी कार्य चल रहा है। इस जनरेशन में रोबोट और अन्य मशीने अपने काम खुद करने में सक्षम होंगी। यह जनरेशन आने वाले भविष्य में सबसे ज्यादा इस्तेमाल की जाएगी जो हमारे देश में भविष्य के लिए बहुत ही ज्यादा लाभदायक होगी।

Computer Full Form :- COMPUTER KA FULL FORM – COMMON OPERATING MACHINE PARTICULARLY USED IN TECHNOLOGY EDUCATION AND RESEARCH

Computer Ka Hindi Name Kya Hai :- कंप्यूटर फुल फॉर्म हिंदी में – संगणक होता है

कंप्यूटर का आविष्कार किसने किया :- कंप्यूटर का आविष्कार चार्ल्स बैबेज ने किया था, चार्ल्स बैबेज को कंप्यूटर का पिता (Computer Ke Janak) कहा जाता है। चार्ल्स बैबेज एक अंग्रेजी विद्वान थे। वह एक गणितज्ञ, दार्शनिक, आविष्कारक और यांत्रिक इंजीनियर थे, जो वर्तमान में सबसे अच्छे कंप्यूटर प्रोग्राम की अवधारणा के लिए याद किये जाते है, उन्होंने Computer Ka Aviskar सन 1822 के लगभग किया था। 1822 में चार्ल्स बैबेज ने पहली स्वचालित कम्प्यूटिंग मशीन बनायीं थी। यह मशीन एक सीमित प्रकार की गणना करती थी और उसका रिजल्ट हमे हार्ड कॉपी के रूप में प्रदान करती थी। पैसों की कमी के कारण चार्ल्स बैबेज इस मशीन पर आगे काम नही कर सके।

कंप्यूटर Ke Prakar :- प्रथम कंप्यूटर के आने से लेकर अब के कंप्यूटर में विभिन्न तरह के परिवर्तन देखने को मिले है कंप्यूटर मुख्यतः चार प्रकार के होते है –
1) सुपर कंप्यूटर (Supercomputer)
2) मेनफ़्रेम कंप्यूटर (Mainframe Computer)
3) मिनी कंप्यूटर (​Minicomputer)
4) माइक्रो कंप्यूटर (​Microcomputer)

1)सुपर कंप्यूटर :- यदि परफॉरमेंस और डाटा प्रोसेसिंग की बात की जाये तो इस मामले में सबसे शक्तिशाली कंप्यूटर सुपर कंप्यूटर है। यह विशेष और कार्य विशिष्ट कंप्यूटर है जिनका उपयोग बड़े संगठनों द्वारा किया जाता है। सुपर कंप्यूटर के उपयोग अनुसंधान और अन्वेषण उद्देश्यों के लिए किया जाता है, जैसे- नासा अंतरिक्ष शटल को लॉन्च करने, नियंत्रित करने और अंतरिक्ष अन्वेषण उद्देश्य के लिए सुपर कंप्यूटर का उपयोग करते है।

2) मेनफ्रेम कंप्यूटर :- मेनफ्रेम कंप्यूटर सुपर कंप्यूटर की तुलना अधिक में शक्तिशाली नहीं है, लेकिन ये काफी महंगे होते है। इनका उपयोग कई बड़ी फर्म और सरकारी संगठन अपने व्यवसाय के संचालन के लिए करते है। आकार में बड़े होने के कारण मेनफ्रेम कंप्यूटरों को वातानुकूलित कमरों में रखा जाता है। सुपर कंप्यूटर की डाटा स्टोरेज क्षमता काफी बड़ी होती है, जिस कारण से यह सबसे तेज़ गति से काम करने वाले कंप्यूटर है। यह बड़ी मात्रा में डाटा को प्रोसेस और स्टोर भी कर सकते है। बैंक शैक्षणिक संस्थान और बीमा कंपनियां अपने ग्राहकों, छात्रों और बीमा पॉलिसी धारकों के बारे में डाटा स्टोर करने के लिए मेनफ्रेम कंप्यूटर का ही उपयोग करती है।

3) मिनी कंप्यूटर :- मिनी कंप्यूटर का उपयोग छोटे व्यवसायों और फर्मों द्वारा किया जाता है। ये बहुत छोटे होते है और इन्हें डिस्क पर समायोजित किया जा सकता है इनमें सुपर कंप्यूटर और मेनफ्रेम कंप्यूटर जितनी डाटा स्टोर करने की क्षमता नहीं होती है। ये कंप्यूटर एकल उपयोगकर्ता के लिए डिज़ाइन नहीं किए गए हैं। इनका उपयोग किसी बड़ी कंपनी या संगठनों के व्यक्तिगत विभाग में विशिष्ट उद्देश्यों के लिए किया जाता है, जैसे- एक उत्पादन विभाग कुछ उत्पादन प्रक्रिया की निगरानी के लिए मिनी-कंप्यूटर का उपयोग कर सकता है।

4) माइक्रो कंप्यूटर :- डेस्कटॉप कंप्यूटर, लैपटॉप, टैबलेट और स्मार्टफोन आदि सभी माइक्रो कंप्यूटर के प्रकार ही है। इनका उपयोग व्यापक रूप में होता है और ये काफी सबसे तेजी से बढ़ते है। माइक्रो कंप्यूटर अन्य तीन प्रकार के कंप्यूटरों की तुलना में सबसे सस्ता है। इसे विशेष रूप से मनोरंजन, शिक्षा और कार्य उद्देश्यों जैसे सामान्य उपयोग के लिए डिज़ाइन किया गया है। माइक्रो-कंप्यूटर के प्रसिद्ध निर्माता डेल, एप्पल, सैमसंग, सोनी और तोशिबा है।

आज की इस टेक्नोलॉजी की दुनिया में कंप्यूटर का उपयोग दिन ब दिन बढ़ता ही जा रहा है जिसका अंदाजा हम तब के कंप्यूटर और आज के कंप्यूटर से करेंगे तो इसमें हमे काफी फर्क देखने को मिलेगा। आज शायद ही कोई ऐसा होगा जो कंप्यूटर का उपयोग ना करता हो, लेकिन बहुत ही कम लोग होंगे जिन्हे Computer Ke Upyog, Computer Ke Karya, Computer Ke Prakar व Computer Ki Khoj Kisne Ki थी इस बारे में पता होगा इसी के चलते आज हमने आपको कंप्यूटर के बारे में जानकारी प्रदान की। अगर Computer Kya Hai In Hindi से संबंधित आपका कोई सवाल हो तो आप हमसे कमेंट करके पूछ सकते है, यदि आपको Computer Ki Jankari पसंद आयी हो तो इसे शेयर करना ना भूले, धन्यवाद!

Computer GK MCQ

आज हम इस पोस्ट के माध्म से आपको COMPUTER क्या है की संपूर्ण जानकारी इस पोस्ट के माध्यम से आपको मिल गई  अगर आपको यह पोस्ट अच्छी लगे तो आप इस पोस्ट को जरूर अपने दोस्तों के साथ शेयर करना

Leave a Comment