3 December से सम्बंधित भारत और विश्व की ऐतिहासिक व प्रमुख घटनायें हिंदी में

Point :- 3 December से सम्बंधित भारत और विश्व की ऐतिहासिक व प्रमुख घटनायें

A) 3 दिसंबर ग्रेगोरी कैलंडर के अनुसार वर्ष का 337 वॉ (लीप वर्ष में 338 वॉ) दिन है।

B) 3 दिसंबर महत्त्वपूर्ण अवसर एवं उत्सव :-
भोपाल गैस काण्ड दिवस
विश्व विकलांग दिवस

C) 3 दिसंबर जन्म व्यक्ति की सूची :-
1882 – नंदलाल बोस – भारत के एक प्रसिद्ध चित्रकार
1884 – राजेन्द्र प्रसाद – भारत के प्रथम राष्ट्रपति
1888 – रमेश चन्द्र मजूमदार, प्रसिद्ध भारतीय इतिहासकार।
1889 – खुदीराम बोस – स्‍वतंत्रता सेनानी
1903 – यशपाल – हिन्दी के यशस्वी कथाकार और निबन्ध लेखक
1913 – शिवनारायण श्रीवास्तव – हिन्दी साहित्य के अध्ययनशील एवं मननशील रचनाका।
1937 – विनोद बिहारी वर्मा – भारतीय भाषाविद।
1957 – रमाशंकर यादव ‘विद्रोही’ – जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में विद्यार्थियों के बीच लोकप्रिय रहे जनकवि थे।
1982 – मिताली राज – टेस्ट क्रिकेट मैच में दोहरा शतक बनाने वाली पहली भारतीय महि |
3 December से सम्बंधित भारत और विश्व की ऐतिहासिक व प्रमुख घटनायें
D) 3 दिसंबर निधन व्यक्ति की सूची :-
1980 – फ्रांसिसको साकाल्नरो, पुर्तगाल के प्रधानमंत्री
1971 – लांस नायक अलबर्ट एक्का, परमवीर चक्र सम्मानित भारतीय सैनिक
1979 – मेजर ध्यानचंद- भारत के ख्याति प्राप्त हॉकीखिलाड़ी।
2000 – हेंक एरोन, सूरीनाम को १९७५ में नीदरलैंड की दासता से मुक्त कराने वाले नेता
2011 – देव आनंद – फ़िल्म अभिनेता और निर्माता।
3 December से सम्बंधित भारत और विश्व की ऐतिहासिक व प्रमुख घटनायें
E) 3 दिसंबर प्रमुख घटनाएँ
1790 – लार्ड कार्नवालिस ने आपराधिक मामलों में न्याय की ताकत मुशिर्दाबाद के नवाब से छीन कर अपने हाथ में कर ली और सदर निजामत अदालत को कोलकाता स्थानांतरित कर दिया।
1796 – बाजी राव द्वितीय को मराठा साम्राज्य का पेशवा बनाया गया। वे मराठा साम्राज्य के अंतिम पेशवा थे।
1828 – एंड्रयू जैक्सन अमेरिका के सातवें राष्ट्रपति चुने गए।
1824 – अंग्रेज़ों ने मद्रास और मुंबई से कुमुक मंगा कर फिर कित्तूर का किला घेर लिया।
1829 – वायसराय लॉर्ड विलियम बैंटिक ने भारत में सती प्रथा पर रोक लगायी।
1910 – फ्रांसीसी भौतिकशास्त्री जॉर्जेज क्लाउड द्वारा विकसित विश्व के पहले नियोन लैम्प का पहली बार पेरिस के मोटर शो में प्रदर्शन।
1912 – तुर्की, बुल्गारिया, सर्बिया, यूनान और मोंटेगरो ने युद्धविराम समझौता किया।
1948 – पूर्वी चीन सागर में चीनी शरणार्थी जहाज को ले जा रहे जहाज कियांग्या में विस्फाेट हाेने से 1,100 लाेगों की माैत हुई।
1959 – भारत और नेपाल ने गंडक सिंचाई और विद्युत परियोजना के समझौते पर हस्ताक्षर किये।
1967 – भारत का पहला रॉकेट (रोहिणी आर एच 75) को थुम्बा से प्रक्षेपित किया गया।
इंडोनेशिया के पूर्व राष्ट्रपति सुकर्णो नजरबंद किये गए।
1971 – भारत और पाकिस्तान के बीच युद्ध शुरू होने के बाद देश में आपातकाल लागू हुआ।
1975 – लाओस गणराज्य घोषित।
1984 – भोपाल स्थित यूनियन कार्बाइड फैक्ट्री से विषैली गैस लीक होने से कम से कम 3000 लोग मारे गए और कई हजार व्यक्ति शारीरिक विकृति के शिकार हो गए।
1989 – रूस के राष्ट्रपति मिखाइल गोर्वाच्योव और अमेरिका के राष्ट्रपति जॉर्ज बुश ने शीत युद्ध खत्म होने की घोषणा की।
1994 – ताइवान में पहला स्वतंत्र स्थानीय चुनाव सम्पन्न।
1999 – विश्व प्रसिद्ध गिटार वादक चार्ली ली बर्ड का निधन, चेचेन्या के छापामारों ने 250 रूसी सैनिकों को मार गिराया।
2000 – विसिट फ़ॉक्स मैक्सिको के नये राष्ट्रपति निर्वाचित, आस्ट्रेलिया ने वेस्टइंडीज को टेस्ट मैच में हराकर लगातार 12 टेस्ट मैच जीतने का रिकार्ड बनाया।
2001 – गाजा पर इस्रायल के हमले में यासर अराफात के हैलीकॉप्टर नष्ट।
2002 – यूएनईपी ने भारत समेत सात उष्णकटिबंधीय देशों में जैव विविधता के अध्ययन के लिए 2 करोड़ 60 लाख डालर जारी किया।
2004 – पुर्तग़ाल के सर्वोच्च न्यायालय में मोनिका की अर्जी खारिज। ईराक में पुलिस थानों पर हुए हमले में 30 लोगों की मौत।
भारत और पाकिस्तान 40 वर्षों के बाद मुनाबाव और खोखरापार के बीच रेल संपर्क फिर से बहाल करने के लिए सहमत हुए।
2008 – मुंबई में हुई 23 नवंबर की आतंकवादी घटना के बाद महाराष्ट्र के मुख्य मंत्री विलासराव देशमुख ने अपने पद से त्यागपत्र दे दिया।
2012 – फिलीपींस में ‘भूफा’ तूफान से कम से कम 475 लोगों की मौत।
3 December से सम्बंधित भारत और विश्व की ऐतिहासिक व प्रमुख घटनायें
F) 3 दिसंबर महत्वपूर्ण दिवस :-
अंतरराष्ट्रीय विकलांग दिवस (विश्व)
भोपाल गैस त्रासदी दिवस (भारत)
3 December से सम्बंधित भारत और विश्व की ऐतिहासिक व प्रमुख घटनायें
G) 3 दिसंबर इतिहास में क्यों खास है :-
साल 1959 – भारत और नेपाल ने गंडक सिंचाई और विद्युत परियोजना के समझौते पर हस्ताक्षर किये।
साल1967 – भारत का पहला रॉकेट (रोहिणी आर एच 75) को थुम्बा से प्रक्षेपित किया गया।
इंडोनेशिया के पूर्व राष्ट्रपति सुकर्णो नजरबंद किये गए।
साल1971 – भारत और पाकिस्तान के बीच युद्ध शुरू होने के बाद देश में आपातकाल लागू हुआ।
साल1975 – लाओस गणराज्य घोषित।
साल1984 – भोपाल स्थित यूनियन कार्बाइड फैक्ट्री से विषैली गैस लीक होने से कम से कम 3000 लोग मारे गए और कई हजार व्यक्ति शारीरिक विकृति के शिकार हो गए।
साल1989 – रूस के राष्ट्रपति मिखाइल गोर्वाच्योव और अमेरिका के राष्ट्रपति जॉर्ज बुश ने शीत युद्ध खत्म होने की घोषणा की।
साल1994 – ताइवान में पहला स्वतंत्र स्थानीय चुनाव सम्पन्न।
साल1999 – विश्व प्रसिद्ध गिटार वादक चार्ली ली बर्ड का निधन, चेचेन्या के छापामारों ने 250 रूसी सैनिकों को मार गिराया।
साल 2002 – यूएनईपी ने भारत समेत सात उष्णकटिबंधीय देशों में जैव विविधता के अध्ययन के लिए 2करोड़ 60 लाख डालर जारी किया।
साल 2004 – भारत और पाकिस्तान 40 वर्षों के बाद मुनाबाव और खोखरापार के बीच रेल संपर्क फिर से बहाल करने के लिए सहमत हुए।
साल 2008 – मुंबई में हुई 23 नवंबर की आतंकवादी घटना के बाद महाराष्ट्र के मुख्य मंत्री विलासराव देशमुख ने अपने पद से त्यागपत्र दे दिया।
साल 2012 – फिलीपींस में ‘भूफा’ तूफान से कम से कम 475 लोगों की मौत।

H) 3 दिसंबर स्वतंत्र भारत के पहले राष्ट्रपति :-
स्वतंत्र भारत के पहले राष्ट्रपति डॉ राजेंद्र प्रसाद का जन्म 1884 में आज ही के दिन हुआ था. देशरत्न की उपाधि पाने वाले और दो बार राष्ट्रपति चुने जाने वाले भारत के अकेले शख्स हैं
राजेंद्र बाबू के नाम से विख्यात इस स्वतंत्रता सेनानी ने स्कूल के दिनों से ही अपनी प्रतिभा का लोहा मनवा दिया था और आगे चल कर हर मोर्चे पर उसे सच साबित किया. उनकी पढ़ाई के दिनों के दर्जनों किस्से आज भी भारत में विद्यार्थियों को प्रेरणा देने के लिए सुने सुनाए जाते हैं.
आजादी की लड़ाई के लिए भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस में शामिल होने से पहले वह वकील थे. महात्मा गांधी के प्रबल समर्थक राजेंद्र बाबू बहुत जल्दी ही बिहार के बड़े नेताओं में शामिल हो गए. 1934 में वो कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष भी चुने गए. देश के आजाद होने पर वह संविधान सभा के अध्यक्ष चुने गए. इसी सभा ने देश का संविधान तैयार किया. 1950 में जब देश गणतंत्र बना तो संविधान सभा ने उन्हें देश का पहला राष्ट्रपति चुना. 1951 में पहले आम चुनाव के बाद वे भारतीय संसद के इलेक्टोरल कॉलेज के जरिए चुने गए देश के पहले राष्ट्रपति बने. 1957 में उन्हें दोबारा इस पद के लिए चुना गया |
देश के सर्वोच्च पद पर रहने के बावजूद लोग उनकी प्रतिभा और सादगी के कायल रहे हैं जिसने भारत के नीति नियंताओं के लिए नैतिकता की लकीर बहुत पहले खींच दी थी |

Completed Today In History Quiz

Leave a Comment

error: Content is protected !!