राजस्थान के प्रमुख मार्बल

राजस्थान के खनिज , राजस्थान के खनिज PDF , राजस्थान में गुलाबी संगमरमर , राजस्थान में गुलाबी संगमरमर कहाँ पाया जाता है , राजस्थान में संगमरमर कहाँ पाया जाता है , राजस्थान में संगमरमर के प्रकार , राजस्थान संगमरमर , गुलाबी मार्बल , राजस्थान के प्रमुख मार्बल, राजस्थान के प्रमुख मार्बल से जुड़ी खोज, मार्बल व्यवसाय को मिले जीएसटी में विशेष राहत, राजस्थान में खनिज तत्वों से पूछे गये, मार्बल व्यवसाय को मिले जीएसटी में विशेष राहत, खनन क्षेत्र में राजस्थान का दबदबा, राजस्थान के प्रमुख मार्बल PDF, राजस्थान के प्रमुख मार्बल ,

राजस्थान के प्रमुख मार्बल :- विश्व में मार्बल किंग के नाम से मशहूर प्रमुख मार्बल व सीमेंट व्यवसायी के राजस्थान, दिल्ली कर्नाटक व मध्यप्रदेश सहित देशभर में 29 ठिकानों पर बुधवार को आयकर विभाग ने छापा मारा, राजस्थान के जयपुर, अजमेर, किशनगढ़, चित्तौडग़ढ़, उदयपुर, सहित विभिन्न विभिन्न ठिकानों पर आयकर अधिकारी जांच में जुटे रहे। साथ ही दिल्ली, इंदौर, कर्नाटक सहित कई ठिकानों को भी छाना गया, सूत्रों के मुताबिक छापे में करोड़ों की नकदी, दर्जनों लॉकरों तथा अरबों रुपए की अघोषित सम्पत्ति की जानकारी मिली है, 29 ठिकानों पर पड़ा छापा जानकारी के अनुसार आयकर विभाग की टीमों ने सुबह व्यवसायी के 29 ठिकानों पर छापे की कार्रवाई की। राजस्थान में किशनगढ़, चित्तौडग़ढ़ व उदयपुर में व्यवसायी के बड़े ठिकाने हैं, आयकर टीम ने किशनगढ़ स्थित व्यवसायी के निवास पर भी कार्रवाई की। देशभर में हुई इस कार्रवाई के लिए विभाग की दो दर्जन से अधिक टीमें जुटी रहीं। व्यवसायी का मार्बल व्यवसाय विश्व भर में फैला है।

यह भी पढ़े : राजस्थान के खनिज संसाधन 

मार्बल व्यवसाय को मिले जीएसटी में विशेष राहत :- चित्तौड़गढ़ सांसद सी पी जोशी ने मार्बल व्यवसाय को जीएसटी में विशेष राहत देने की मांग की है। जोशी ने बुधवार को कई केंद्रीय मंत्रियों से मुलाकात कर इसके साथ कई अन्य विषयों पर भी चर्चा की। सांसद जोशी ने केन्द्रीय वित्त राज्य मंत्री संतोष गंगवार से भंेट कर राजस्थान के प्रमुख उद्योग मार्बल को आगामी जुलाई से लागू होने जा रहे जीएसटी में विशेष राहत दिलवाने का आग्रह किया। भेंट के दौरान सांसद जोशी ने कहा कि मार्बल राजस्थान का प्रमुख उद्योग है और इससे लाखों लोग रोजगार प्राप्त करते है। उन्होंने बताया कि प्रस्तावित जीएसटी में देश के बाहर से पूर्ण रूप से फिनिश मार्बल मंगवाना देश में रफ ब्लॉक को तैयार करवाने से भी सस्ता हो जाएगा। इस कारण सभी लोग तैयार मार्बल को सस्ता होने के कारण प्राथमिकता देंगे। उन्होंने बताया कि सार्क देशों से मार्बल मंगवाना तो और भी सस्ता हो जाएगा। जो स्थानीय रोजगार को प्रभावित करेगा। वर्तमान में कई यूनिट विदेशों से रफ ब्लॉक मंगवाकर उनका यहां प्रोसेस कर तैयार कर रही है। जिस प्रक्रिया में कई लोगों को रोजगार मिलता है। सांसद जोशी ने केन्द्रीय मंत्री से बन्दरगाह पर कस्टम ड्यूटी वास्तविक खरीद मूल्य पर ही लगाए जाने की मांग की। साथ ही रफ मार्बल ब्लॉक पर कस्टम ड्यूटी 40 प्रतिशत से घटाकर स्लेब पर कस्टम ड्यूटी खरीद मूल्य पर 20 प्रतिशत तक बढ़ाए जाने की मांग की।अफीम उत्पादन कीमतों में हो वृद्धि चित्तौड़गढ़ सांसद जोशी ने केन्द्रीय वित्त राज्य मंत्री संतोष गंगवार से अफीम काश्तकारों की अफीम कृषि में बढ़ती लागत को देखते हुए उसका अधिक मूल्य किसानों को दिलाए जाने की मांग उठाई। उन्होंने बताया कि वर्तमान में अफीम फसल के उत्पादन के लिए बहुत अधिक श्रम और धन व्यय करना पड़ रहा है। ऐसे में उन्होंने मांग की कि किसानों को उनकी मेहनत का उचित मूल्य मिले, इसके लिए विशेष रूप से सरकार को अफीम खरीद का मूल्य बढ़ाना चाहिए। सीएसआर मद में हो और विकास कार्यसांसद जोशी ने परमाणु उर्जा राज्य मंत्री डॉ जितेन्द्र सिंह से भेंट कर चित्तौड़गढ़ में सामाजिक उत्तर दायित्व के तहत विकास के और अधिक कार्य करवाने का आग्रह किया। सांसद जोशी ने भैंसरोड़गढ़ क्षेत्र के दुधीतलाई गांव में शबरी आश्रम के निर्माण में 75 लाख की लागत के सामुदायिक भवन के निर्माण में न्युक्लियर पॉवर काॅर्पोरेशन ऑफ इण्डिया लिमिटेड की स्वीकृति के लिए केन्द्रीय मंत्री का आभार प्रकट करते हुए भैंसरोड़गढ़ क्षेत्र के सांखलो का टूण्डा गांव में विद्याभारती संस्थान में विद्यालय भवन का निर्माण भी सीएसआर मद से करवाने का आग्रह किया। आपको बता दें कि रावतभाटा भैंसरोड़गढ़ क्षेत्र में पहले भी सीएसआर मद में लगभग 2 करोड़ से ज्यादा के थामलाब गांव से चारभुजा तक 2 लेन सीसी रोड, मण्डेसरा और कुण्डलिया गंाव में लिंक सड़क, रावतभाटा के राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय में कक्षा कक्षों, कार्यालय कक्ष और प्रयोगशाला कक्ष का निर्माण होने के साथ कई कार्य हुए हैं।

Rajasthan Geography Notes

Leave a Comment

error: Content is protected !!