अखिल भारतीय बेघर लोग कांग्रेस

Join Our WhatsApp Group 

अखिल भारतीय बेघर लोग कांग्रेस , चुनाव में कैसे गेमचेंजर साबित होगा ‘न्याय जानें कांग्रेस का विजन और दावा , भाजपा के घोषणा पत्र में कोई नई बात नहीं ,

अखिल भारतीय बेघर लोग कांग्रेस

अखिल भारतीय बेघर लोग कांग्रेस :-
अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी उपाध्यक्ष श्री राहुल गांधी ने आज दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष श्री अजय माकन तथा अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के दिल्ली प्रभारी श्री पी.सी. चाको के साथ शकूर बस्ती में उजाड़ी गई 500 से अधिक झुग्गी झौपडि़यों से उजाड़े गए लोगों से मुलाकात की।
श्री राहुल गांधी ने बेघर हुए लोगों से बातचीत करते हुए कहा कि मैं हमेशा आपके साथ हूॅ और आपके साथ अन्याय नहीं होने दूंगा। वह झुग्गी झौपड़ी वालों की लड़ाई संसद व संसद के बाहर लड़ेंगे। श्री राहुल गांधी ने कहा कि मोदी सरकार व केजरीवाल सरकार इन गरीबों को कड़कड़ाती ठंड में बेघर करने के लिए जिम्मेदार है।
इस स्थान का दौरा कर श्री राहुल गांधी ने बेघर हुए लोगों की स्थिति का जायजा लिया और कांग्रेस पार्टी द्वारा चलाये जा रहे राहत अभियान के कैम्पों का भी जायजा लिया।

यह भी पढ़े :
भारतीय हिन्दू सेना

चुनाव में कैसे गेमचेंजर साबित होगा ‘न्याय जानें कांग्रेस का विजन और दावा :-
अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के महासचिव केसी वेणुगोपाल ने भाजपा के चुनावी घोषणा पत्र की आलोचना की तो दूसरी तरफ, कांग्रेस की खास स्कीम के बारे में विस्तार से बातचीत की
मनरेगा की तरह ‘न्याय’ होगा गेमचेंजर |
वेणुगोपाल ने पूरा भरोसा जताकर मज़बूती से कहा कि कांग्रेस की ‘न्याय’ योजना इस चुनाव में गेमचेंजर का काम करेगी और ज़्यादा नहीं तो उतना बड़ा प्रभाव तो पैदा करेगी ही, जितना मनरेगा ने किया था. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की बात को दोहराते हुए वेणुगोपाल ने इस स्कीम को गरीबी पर सर्जिकल स्ट्राइक करार देते हुए कहा कि ‘मोदी और उनकी सरकार की बेकार नीतियों के कारण पटरी से उतर गई देश की व्यवस्था फिर पटरी पर आएगी |
वेणुगोपाल ने कहा कि ‘ये फैसला सालों के विश्लेषण और कोशिशों के बाद किया गया है. हम अर्थव्यवस्था को मज़बूत करना चाहते हैं. मोदी ने क्या किया? नोटबंदी के फैसले से मार्केट के सर्कुलेशन में बना हुआ पैसा निकाला. पिछले दो सालों में आम आदमी की खरीदारी की ताकत कम हो गई. अगर लोगों के पास पैसा नहीं है, तो वो निवेश कैसे ​करेंगे? और निवेश नहीं होगा तो मार्केट कैसे चलेगा और रोज़गार कहां से आएगा? ये एक पूरा चक्र है. हमें यकीन है कि 72 हज़ार रुपये वाली इस स्कीम के बाद मार्केट की हालत बदलेगी |

भाजपा के घोषणा पत्र में कोई नई बात नहीं :-
वेणुगोपाल ने इस लोकसभा चुनाव के मद्देनज़र जारी किए गए भाजपा के घोषणापत्र की आलोचना करते हुए 2014 की तुलना में इस बार कोई नयापन न होने की बात कही. उन्होंने कहा कि भाजपा ने दावा किया था कि किसानों की आय दोगुनी होगी इसको छोड़िए किसानों की हालत इतनी खराब है कि वो खुदकुशी के आंकड़े बढ़ गए हैं. जो लोग अब महिलाओं के लिए बात कर रहे हैं, वो अब तक क्या महिला आरक्षण बिल पास करवा सके? ये बिल लोकसभा में पास हो चुका था सिर्फ राज्यसभा से पास होना था. कौन रोक रहा है उन्हें? हम न सिर्फ ये बिल पास कराने का वादा कर रहे हैं बल्कि नौकरियों में 33 फीसदी के आरक्षण की भी बात कर रहे हैं |
एक तरफ महिलाओं के हित के मुद्दे पर भाजपा की आलोचना की तो दूसरी तरफ वेणुगोपाल ने इतिहास के हवाले से कांग्रेस का गुणगान भी किया उन्होंने कहा कि आप याद कीजिए, पंचायतों और ग्रामसभाओं में महिलाओं को अगर 33 फीसदी का आरक्षण हासिल है, तो इसका श्रेय किसको है? इसका श्रेय पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी को ही है |

Election Party Notes

Leave a Comment

error: Content is protected !!